लेखक कैसे बने और एक लेखक की सैलरी क्या होती है?

एक ऐसा क्षेत्र जिसमे बहुत ही काम लोगों की रूचि होती है लेकिन जिन्हे रूचि होती है उनका पूरी दुनिया में नाम होता है.  तो अगर आप भी उनमे से एक हैं जो लेखक बनना चाहते हैं और जानना चाहते हैं की लेखक क्या है और एक लेखक कैसे बने तो ये आर्टिकल आपके लिए ही है. 

लेखक एक महान व्यक्ति होते हैं जो अपने शब्दों के अनुसार लोगों के विचारों को बदल सकते हैं. इनके द्वारा प्रयोग किया हुआ हर एक शब्द  की अलग ही विशेषता होती है जिससे उससे पढ़ने वाला व्यक्ति का नकारात्मक विचार सकारात्मक विचारों में परिवर्तित हो जाता है.

हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपको ये भी बतायंगे की  प्रकार के होते हैं और कितना पैसा कमाते हैं. 

लेखक क्या होता है? 

लेखक एक ऐसे व्यक्ति को कहा जाता है जो शब्दों को अपने अनुसार किसी भी कहानियां या  तथ्यों में जोड़कर उनको एक ऐसा नया रूप दे देते हैं जिससे उस कहानी को पढ़ने वाला का मन तथा मस्तिष्क दोनों खुश हो उठता है.

लेखक के द्वारा लिखे गए हर एक शब्द का बहुत ही गहरा मतलब निकलता है जिससे उस शब्द को पढ़ते ही लोगों की विचारों में परिवर्तन आना शुरू हो जाता है.

जिस प्रकार एक चित्रकार की कला पेंटिंग होती है ठीक उसी प्रकार लेखक की कला उनके द्वारा उपयोग किए गए महत्वपूर्ण शब्द होते हैं. ये  हर एक शब्द को अपनी कहानी में इस प्रकार जोड़कर लिखते हैं जिसे पढ़ते ही लोगों का मन प्रफुल्लित हो जाता है.

एक लेखक जब किसी कहानी को लिखते हैं तो उस कहानी को लिखते समय वे खुद का मनोरंजन करता है और मनोरंजन के द्वारा अपने कहानी में ऐसे महत्वपूर्ण शब्दों का प्रयोग करते हैं जिसे पढ़ने के बाद लोगों के चेहरे में एक अलग चमक दिखाई देती है. 

लेखक के द्वारा लिखे गए तथ्य या कहानी को पढ़ने के पश्चात लोगों का मनोरंजन हो जाता है क्योंकि लेखक के द्वारा प्रयोग में लाए गए विभिन्न प्रकार के महत्वपूर्ण शब्द का भाव बहुत ही उत्तेजना पूर्वक रहता है जिसे पढ़कर समझने वाले का विचार परिवर्तन होने में समय नहीं लगता.

लेखक की कहानी में ऐसे महत्वपूर्ण बातों को लिखा जाता है जिसे पढ़ने के बाद लोगों की अंधेरा पूर्वक जिंदगी में प्रकाश आ जाती है.

जब लेखक के कलम चलती है तो पढ़ने वालों की विचार में परिवर्तन आने में समय नहीं लगता.

जिस लोगों का विचार नकारात्मक रहता है वे यदि लेखक के द्वारा लिखे गए महत्वपूर्ण बातों को पढ़ ले तो उनके विचार सकारात्मक होने में समय नहीं लगता क्योंकि लेखक के द्वारा उपयोग किए गए हर एक शब्द का ऐसा ठोस मतलब निकलता है जिसे पढ़ने के दौरान लोगों की विचार ही बदल जाती है. 

लेखक विभिन्न प्रकार के तथ्यों को धैर्य और उच्च विचार के साथ महत्वपूर्ण शब्दों का प्रयोग कर लिखते हैं जैसे कविता, कहानी, उपन्यास, पत्र, रिपोर्ट इत्यादि.

इनके द्वारा अपने पत्र या कहानी में प्रयोग किए गए शब्दों का महत्व इतना प्रभावशाली होता है इन्हें पढ़ने वाले का मन मस्तिक और विचार सभी में परिवर्तन आ सकता है.

राइटर के द्वारा काल्पनिक तथा गैर काल्पनिक दोनों प्रकार की कहानी को अपने महत्वपूर्ण शब्दों का प्रयोग करें लिख सकते है इनके द्वारा लिखे गए हर एक कहानी बहुत ही प्रभाव पूर्ण कथा प्रभावशाली होते हैं.

लेखक बनने का तरीका

पहले जमाने में लेखकों की महत्व बहुत ही अधिक रहती थी जिसमें लोगों को लेखक के द्वारा लिखी हुई किताबों को पढ़ना कविताओं को पढ़ना तथा अन्य उपन्यासों को पढ़ना लोगों को बहुत ही मनोरंजक लगती थी. 

आज भी बहुत से ऐसे लोग हैं जिन्हें हर एक उपन्यास को पढ़ना बहुत ही पसंद लगता है. आज की जनरेशन में हम  किसी भी कहानी को पढ़ना चाहते हैं तो वह हम फोन के माध्यम से भी पढ़ सकते हैं. 

कहानियां बहुत ही रोचक पूर्ण होती है जिसे पढ़ने के बाद मन खुश हो उठता है. कहानी से प्रेरित होकर बहुत से लोगों की इच्छा होती है कि वह भी लेखक बने और आज की जनरेशन में भी राइटर का डिमांड हर क्षेत्र में बहुत ही अत्यधिक है.

बहुत से लोगों की सपना होती है कि वह भी लेखक बनकर कलम के जरिए अपने विचारों को लोगों के पास हो जाए.

यदि आप भी लेखक बनने की चाहत रखते हैं तो एक कामयाब राइटर बनने के लिए आपको कठिन परिश्रम के साथ-साथ सच्चे मन से इसे बनने की सभी प्रक्रियाओं को करना होगा.

लेखक बनने के लिए महत्वपूर्ण प्रक्रिया है निम्नलिखित है:- 

लेखक बनने के लिए कठिन परिश्रम की आवश्यकता होती है:- 

यदि आप राइटर बनने की चाहत रखते हैं और सच्चे मन से लेखक बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अत्यधिक कठिन परिश्रम की आवश्यकता है क्योंकि परिश्रम एक ऐसा सफलता की सीढ़ी है जिसे आप जितना ज्यादा करो उतना जल्दी सफलता आपके कदम चूमेगी. 

इसके लिए आपको कठिन परिश्रम की आवश्यकता है और जहां तक संभव हो आप हर एक किताब को पढ़ें तथा अन्य प्रकार की जानकारियों को ग्रहण करें जो आपके लेखन में मददगार होगी. 

इन सभी को पढ़ने के लिए आपको जहां तक संभव हो वहां तक कठिन परिश्रम करनी चाहिए तब जाकर आप एक महान लेखक बन सकते हैं.

भाषा में पकड़

एक लेखक को अपनी भाषा में पकड़ होना अति अनिवार्य है क्योंकि जिस भी भाषा में अपने लेखन की प्रक्रिया करते हैं या कहानी को लिखते हैं उस भाषा में ज्ञान होनी चाहिए. इसलिए जिस भी भाषा में अपनी कहानी को लिखते हैं उस भाषा में जानकारी अत्यधिक होनी चाहिए.

यदि आप हिंदी में अपनी कहानियों को लिखना चाहते हैं तो इसके लिए आपको हिंदी भाषा की जानकारी होनी चाहिए जैसे हिंदी व्याकरण हिंदी वर्णमाला, पर्यायवाची शब्द, लोम शब्द, संज्ञा, सर्वनाम एवं हिंदी व्याकरण से संबंधित सभी जानकारियों को आपको जानना अनिवार्य है.

लेखक अपनी कहानी में एक शब्द का प्रयोग कर अनेक वाक्यों का अलग-अलग मतलब निकालते हैं इसलिए इनको अपनी भाषा में पकड़ होना बहुत ही जरूरी है तभी वे एक सफल राइटर बन सकते हैं.

लगातार  सीखना

हर एक लेखक अपने घर की क्रियाकलापों के साथ-साथ बाहर के वातावरण तथा समाज से संबंधित अन्य कार्यों से भी बहुत कुछ सीखते हैं जिससे उन्हें कोई भी टॉपिक को लिखने में मदद मिलती है.

यदि आप भी एक सफल राइटर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको हर तरह की जानकारियों को जानना होगा, विभिन्न प्रकार की किताबों को पढ़ना होगा इसके साथ साथ प्रसिद्ध जगहों की भी जानकारी को जानना आवश्यक है. 

यदि आप किसी यात्रा में जा रहे हैं तो यात्रा के दौरान आप जिस जिस जगह से गुजर रहे हैं वहां की भी जानकारी लेनी चाहिए और इसके साथ-साथ आप जिस जगह की यात्रा के लिए जा रहे हैं उस जगह की महत्वपूर्ण बातों को सीखना चाहिए. जब आप इन सभी चीजों का अध्ययन करते हो तब आप एक प्रभावशाली कहानी लिखने में सक्षम हो पाएंगे.

धैर्यवान होना

एक लेखक को अपनी कहानी मनोरंजन पूर्वक लिखने के साथ-साथ संयम और धैर्य के सात भी लिखनी चाहिए. जब आप किसी टॉपिक पर लिख रहे हो उस समय आपको अपने अंदर धैर्य रखना बहुत जरूरी है क्योंकि धैर्यवान होना का मतलब समझदार होना होता है जो हर एक कार्य को समझ बूझ कर करता है इसे ही हम धैर्यवान कहते हैं.

जब भी आप किसी कहानी को लिखते हो तो लिखने के पश्चात आपको धैर्य रखनी होगी और जिस भी कहानी को आप लिखे हैं उसे पहले खुद पढ़ कर जांच कर लें कि कहीं कोई शब्द गलत तो प्रयोग नहीं हो गया. इसके पश्चात आप अपनी कहानी को किसी प्रकाशक के पास दे ताकि आप की लिखी हुई कहानी में कोई गलती ना निकाल सके.

लगातार अभ्यास करें 

इस क्षेत्र में सफलता पाने के लिए आपको भी निरंतर अभ्यास की जरूरत है क्योंकि अभ्यास के बिना किसी भी चीज को हासिल करना असंभव है. 

लोग तभी सफल हो पाते हैं जब भी लगातार अभ्यास करते हैं. जैसे कोई उम्मीदवार को सरकारी नौकरी निकालनी होती है तो वह उस एग्जाम के लिए नियंत्रण 1 साल अभ्यास करते रहते हैं और अभ्यास के दौरान जब वह परीक्षा लिखते हैं तो वह उस परीक्षा में उत्तीर्ण भी आते हैं इसलिए अभ्यास सफलता की प्रथम सीढ़ी माना जाता है जिसे हर लोगों को करना चाहिए.

एक लेखक को अपने लिखने की प्रक्रिया में नियंत्रण अभ्यास करने की आवश्यकता होती है क्योंकि जितना ज्यादा लिखा जाए उतना ज्यादा शब्दों और वाक्यों में कमांड बढ़ता है इसलिए हर एक लेखक को कठिन परिश्रम करनी चाहिए और इसके साथ-साथ निरंतर अभ्यास भी करनी चाहिए.

अच्छे शब्दों का चयन

यदि आप किसी कहानी को लिख रहे हैं तो आपको उस कहानी से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण शब्दों का प्रयोग करना चाहिए. आपके द्वारा प्रयोग किए गए शब्द का मतलब सही और समझने योग्य होना चाहिए. 

इसके साथ साथ आप जिस भी शब्द का प्रयोग करते हैं उस शब्द का मतलब प्रभावपूर्ण होना चाहिए ताकि पढ़ने वाले लोगों को आप की कहानी पढ़ते ही रोचक लगे.

शैली और मजबूत विचार 

एक लेखक जब भी किसी टॉपिक पर कुछ लिखता है तो वह अपने लिखी हुई टॉपिक को इस प्रकार महत्वपूर्ण वाक्यों को तथा शब्दों को जोड़ कर लिखता है जिससे उसकी कहानी सभी कहानियां से उच्च स्तर की होती है.

इसलिए लेखक को महत्वपूर्ण शब्दों का चयन करके अपने कहानियों में इनका प्रयोग करना चाहिए ताकि पढ़ने वाले भी पढ़ कर खुश हो जाए.

यदि आप की कहानी में कुछ रोचक महत्वपूर्ण शब्द का प्रयोग ना किया गया हो तो इससे आप की लिखी हुई कहानी ज्यादा पब्लिक नहीं हो पाएगी इसलिए महत्वपूर्ण शब्द आप की कहानी का प्रचार प्रसार में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. 

इन सभी के साथ साथ एक लेखक को अपनी कहानी लिखते समय सकारात्मक चार रखना अति आवश्यक है क्योंकि उच्च विचार के साथ किसी टॉपिक पर लिखने से उस टॉपिक का महत्व बहुत ही बढ़ जाता है.

संक्षिप्तता

जब आप किसी कहानी को संक्षिप्त रूप से लिखते हो तो वह कहानी लोगों के द्वारा बहुत ही पसंद की जाएगी क्योंकि संक्षिप्त रूप से लिखने पर आपकी अच्छी विशेषता देखी जाती है.

 इसलिए कुछ भी लिखो लेकिन उसमें बड़े से बड़े वाक्य को ना जोड़कर कम शब्दों में लिखने का प्रयास करें. सभी के साथ साथ आवश्यक शब्दों का प्रयोग कर अपने टॉपिक को लिखें.

डायरिया या नोटबुक साथ रखें

यदि आप एक लेखक बनना चाहते हो तो आपको सबसे पहले अपने साथ डायरी या नोटबुक अपने साथ रखना होगा. नोटबुक और डेरी अपने साथ रखने से आपके मन में जिस भी विषय के बारे में विचार आता है आप उस विचार को अपने डायरी में लिख लो.

जब आप किसी अन्य जगह पर घूमने या किसी अन्य काम से जाते हो तो वहां की जानकारी आप अपने नोटबुक में लिख ले इन सभी कार्यों को करने से आपको किसी टॉपिक पर लिखने में बहुत ही मदद मिलेगी.

शुरुआत को अंजाम तक ले जाएं

आप किसी टॉपिक के बारे में लिखते हो तो यह प्रयास रहना चाहिए कि उस टॉपिक को अंत तक पहुंचा करें टॉपिक लिखना बंद करें.

ऐसा करने से व्यक्ति के मन में आत्मविश्वास की भावना जगती है और वे अन्य टॉपिक ओं को भी बहुत जल्द लिखने में सक्षम भी होते हैं. 

इसलिए जब भी आप किसी टॉपिक की शुरुआत करें तो यह प्रयास होना चाहिए कि उसे अंत तक लिखने के बाद ही उस टॉपिक को बंद करें.

लिखते समय अन्य लोगों के बारे में न सोचे

यदि आप एक लेखक बनना चाहते हो तो इसके लिए जब भी आप किसी टॉपिक के बारे में लिखते हो तो उस समय लिखने के दौरान आपके उस टॉपिक से संबंधित जितने भी विचार उत्पन्न होते हैं उसे आप लिख दें यह न सोचे कि लोग क्या कहेंगे. 

अपने विचारों को जब आप किसी टॉपिक के अंदर उस टॉपिक से संबंधित बातों से जोड़कर लिखते हो तो वह टॉपिक आपका सबसे अलग होता है.

बेहतर सोच बेहतर लेखन

किसी कहानी को लिख रहे हैं तो उस समय लिखने के दौरान आपकी सोच सकारात्मक होनी चाहिए. हर एक लोगों की अपनी कहानी होती है. 

इसलिए जब आप किसी कहानी को लिखते हो तो उस कहानी में अपने जीवन से संबंधित कुछ बातों को लिखें जिससे आप की कहानी और भी बेहतर हो जाएगी. 

इसलिए जब भी किसी कहानी को आप लिखते हो तो अपने अंदर उच्च विचार के साथ-साथ सकारात्मक विचार रखकर उस कहानी को लिखें तब जाकर वह कहानी आपका बहुत ही प्रसिद्ध होगा.

लेखक के प्रकार

लेखक कई प्रकार के होते हैं जो अलग-अलग विषयों के बारे में लिखते हैं:- 

1. पोयम राइटर:- 

जो लेकर विभिन्न प्रकार की कविताएं और अलग-अलग शायरियां रचना करते हैं उन्हें पोयम राइटर कहा जाता है.

 2. बुक राइटर :- 

जो किताबों को लिखते हैं तथा अन्य किताबों में अपने कंटेंट शामिल करते हैं उन्हें बुक राइटर के नाम से जाना जाता है. यह प्राया अपने नाम की बुक लिखते हैं.

3. कंटेंट राइटर:- 

कंटेंट राइटर उसे कहते हैं जो किसी कंपनी या वेबसाइट के लिए कंटेंट लिखते हैं.

4. स्क्रिप्ट राइटर:- 

जो नाटक तथा फिल्मों के स्क्रिप्ट लिखते हैं उन्हें स्क्रिप्ट राइटर के नाम से जाना जाता है.

5. न्यूज़ राइटर:- 

विभिन्न प्रकार के समाचारों से संबंधित टॉपिक को लिखने वाले लेखक को न्यूज़ राइटर कहा जाता है.

लेखक की नौकरी

लेखक ऐसे लेखन कर्ता होते हैं जो अपने उच्च विचार और महत्वपूर्ण शब्दों का प्रयोग करके किसी भी टॉपिक को महत्वपूर्ण बना सकते हैं. 

आज की जनरेशन में बहुत सी कंपनियां राइटर्स नहीं रखती इसलिए राइटर्स को जॉब मिलना काफी मुश्किल होता है लेकिन, फ्रीलांस राइटिंग आज के जमाने में बहुत ही प्रसिद्ध है इसलिए यदि आप राइटर बनना चाहते हैं तो फ्रीलांस राइटिंग लिखकर आप अपने फ्यूचर बना सकते हो.

लेखक की सैलरी

कुछ कंपनियां कंटेंट लिखने के लिए राइटर्स को रखती है जिसमें उनकी सैलरी 10 से 20 हजार तक की होती है. दूसरी और विलेन सिंह राइटर पैसा पर वर्ड के हिसाब से वेतन लेती है. 

अगर हम बुक राइटर की बात करें तो बुक राइटर को भी काफी ज्यादा फायदा होता है क्योंकि यदि किसी राइटर के द्वारा एक बुक लिखी गई है और वह बुक बहुत ही ज्यादा प्रसिद्ध हो गई तो उस राइटर को लाखों लाख रुपए मिलते हैं. 

इन सभी के साथ साथ फिल्म तथा नाटक में स्क्रिप्ट राइटर की कमाई भी लाखों रुपए की होती है. इसलिए राइटिंग के हर क्षेत्र में राइटर्स का वेतन अलग अलग होता है.

एक लेखक के रूप में कैरियर की गुंजाइश

राइटिंग स्किल फ्यूचर के लिए बहुत ही अच्छी चॉइस है. 

यदि आप एक राइटर बनना चाहते हैं तो इस क्षेत्र में आपको विभिन्न प्रकार की पेसा मिल सकती है शुरुआती के दिन एक राइटर को ज्यादा एक्सपीरियंस नहीं होता लेकिन जैसे जैसे उसकी प्रिय बढ़ती जाती है वह अच्छे से अच्छे कंटेंट लिखने लगते हैं जिससे उनका नाम प्रसिद्ध होते चला जाता है. 

इसलिए कहा गया है राइटिंग स्किल राइटर्स के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण पेसा है.

निष्कर्ष 

लेखक एक ऐसे महान व्यक्ति होते हैं जो अपनी लेखन की प्रक्रिया से तथा अपने कहानी में प्रयोग किए गए महत्वपूर्ण शब्दों से लोगों के विचारों को परिवर्तित करने में सक्षम होते हैं. 

आज आपने जाना की आखिर लेखक क्या है और एक लेखक कैसे बने? यही नहीं आपने ये भी जाना की एक इन की सैलरी कितनीं होती है और कितने प्रकार के लेखक होते हैं. 

यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो आप अपने दोस्तों में जरूर शेयर करें.

Wasim Akram

वसीम अकरम WTeckni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.

Leave a Comment