UPSC Success Story : 10वीं में 35-36 नंबर से पास होने वाले तुषार के इस टैलेंट ने किया कमाल

Success Story Of IAS Tushar : हमेशा से यह कहा गया है कि मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती हैं. बस आप मन और लगन लगाकर मेहनत करते रहे. और ऐसा हुआ भी है जिन्होंने जी तोड़ मेहनत की है और उनको सफलता हासिल भी हुई हैं.

कुछ ऐसा ही किया है तुषार सुमेरा ने दसवीं में सिर्फ 35-36 नंबर लाकर पास होने वाले तुषार डी सुमेरा अपनी मेहनत से वह कर दिखाया जो हर कोई नहीं कर पाता है. वह अपने मेहनत के दम से आईएएस परीक्षा पास की है और आज एक बहुत ही काबिल ऑफिसर भी हैं.

इस लेख के माध्यम से आज हम आप सभी को एक ऐसे व्यक्ति के बारे में बताने वाले हैं जिन्होंने अपने 10वीं और 12वीं की परीक्षा में 35-36 नंबर लाकर मुश्किल से परीक्षा पास की है. और आज एक बहुत ही कामयाब आईएएस ऑफिसर हैं. तुषार डी सुमेरा ने इस बात को साबित करके दिखाया कि मार्कशीट कैसा भी हो कोई फर्क नहीं पड़ता फर्क इससे पड़ता है की आप कितना मेहनत करते है. अगर आप इनके बारे में इनकी पूरी कहानी जानना चाहते हैं. तो इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें.

आईएएस ऑफिसर की सफलता :-

Success Story Of IAS Tushar : मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती यह तो हमेशा से ही हमें बताया जाता है और सिखाया जाता है. लेकिन मेहनत तो गधे भी करते हैं पर क्या खास बात है दूसरों के मेहनत में और इस आईएएस ऑफिसर की मेहनत में.

मेहनत तो हर कोई ही करता है लेकिन ऐसी मेहनत करना बहुत ही बड़ी बात है की जब आपका दसवीं में नंबर 35-36 आए और आप उसके बाद भी पढ़ाई करने का सोचे यह अपने आप में एक बहुत ही बड़ी बात है. कुछ ऐसा ही कहानी है भरूच के कलेक्टर तुषार डी सुमेरा की.

आमतौर पर यह देखा जाता है और हमेशा से यह माना जाता है कि यूपीएससी की तैयारी करने वाले हैं सभी लोग बहुत ही तेज तरार होते हैं. लेकिन ऐसा कोई जरूरी नहीं है अगर आप दिल से और लगन से मेहनत करते हैं तो किसी भी परीक्षा को पास करना कोई बड़ी बात नहीं है ऐसा मैं नहीं ऐसा तुषार डी सुमेरा ने कर दिखाया है. उन्होंने ना सिर्फ ऐसा कर दिखाया है बल्कि उन्होंने यूपीएससी परीक्षा पास भी किए और अच्छे रैंक लाकर आईएएस ऑफिसर भी बने.

आईएएस अधिकारी अवनीश शरण ने शेयर किया मार्कशीट :-

तुषार डी सुमेरा बहुत ही मुश्किल से जैसे-तैसे पास की दसवीं का परीक्षा. उन्होंने दसवीं के परीक्षा में उतना ही मार्क्स लाया था जितना कि पास होने के लिए जरूरत होती है. उस समय तक वह एक बहुत ही एवरेज विद्यार्थी थे लेकिन उन्होंने अपने मेहनत और लगन से करके दिखाया कि आप कम मार्क्स लाकर भी एक आईएएस ऑफिसर बन सकते हैं.

छतीसगढ़ के आईएएस अधिकारी अवनीश शरण ने अपने आईएएस ऑफिसर तुषार के बारे में बात करते हुए बताया कि किस तरह से उन्होंने अपने मेहनत और लगन से सफलता हासिल की. उन्होंने अपने ट्विटर पर उनके मार्कशीट भी शेयर किया और बताएं के कम मार्कशीट के बावजूद भी आप किस प्रकार सफलता हासिल कर सकते हैं. कम मार्क्स देखकर निराश नहीं होना चाहिए हमें कभी पढ़ाई नहीं छोड़ना चाहिए. बिना किसी फल का अपेक्षा करते हुए लगातार मेहनत करना चाहिए.

ये भी अवश्य पढ़ें:

आईएएस तुषार की दसवीं में कितना मार्क्स आया था :-

आईएएस अधिकारी अवनीश शरण ने बताया कि तुषार डी सुमेरा 2012 यूपीएससी बैच में परीक्षा पास किए थे. उन्होंने बताया कि तुषार डी सुमेरा अपने हाई स्कूल के एग्जाम में सिर्फ पासिंग मार्क्स ही प्राप्त किए थे.

उन्होंने बताया उनका हाई स्कूल परीक्षा का मार्क्स गणित विषय में 36, अंग्रेजी में 35 और विज्ञान में केवल 38 नंबर ही प्राप्त किए थे. लेकिन इसके बावजूद भी उन्होंने अपनी पढ़ाई जारी रखी और लोगों के लिए मिसाल बने की सफलता के लिए नंबर कि नहीं टैलेंट की जरूरत होती है.

पहले B.A. और B.Ed. की फिर बच्चों को पढ़ाने लगे :-

जैसे कि हमने आप सभी को बताया कि तुषार डी सुमेरा ने बहुत ही मुश्किल से जैसे तैसे अपना हाईस्कूल परीक्षा पूरी की और फिर उन्होंने उसके बाद अपनी पढ़ाई में ध्यान देना शुरू की और अपना पढ़ाई आगे भी जारी रखें. उन्होंने सबसे पहले अपने 12वीं पूरी की.

 उसके बाद अपने मेहनत के दम पर B.A. और B.Ed. पर एडमिशन ली और पढ़ाई करना शुरू की और फिर पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने अपना पॉकेट खर्चा और जरूरीयात पूरा करने के लिए उन्होंने बतौर सहायक टीचर की नौकरी करना शुरू किया. और साथ ही साथ अपना आगे का पढ़ाई भी जारी रखा.

इस तरह शुरू की यूपीएससी की तैयारी :-

तुषार डी सुमेरा ने अपने B.A. और B.Ed. की पढ़ाई पूरी करने के बाद अपने आगे की पढ़ाई में गति देने के लिए और अपने जरूरीयात को पूरा करने के लिए बतौर सहायक शिक्षक का नौकरी करना शुरू की. और इसके साथ ही साथ उन्होंने अपना आगे का पढ़ाई भी जारी रखा. उन्होंने अपने लिए एक लक्ष्य तैयार किया और उस लक्ष्य को पाने के लिए जी तोड़ मेहनत की.

वह पढ़ाने के साथ-साथ खुद भी पढ़ा करते थे संघ लोक सेवा आयोग की ओर से आयोजित की जाने वाले सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करने लगे और जब उन्होंने साल 2012 में परीक्षा में भाग लिया तो ना सिर्फ उन्होंने परीक्षा पास की बल्कि अच्छी रैंक लाकर आईएएस ऑफिसर भी बने.

निष्कर्ष :-

इस लेख के माध्यम से आज हमने आप सभी को तुषार डी सुमेरा की सफलता के बारे में बताया है. हमने आपको बताया कि किस प्रकार तुषार ने अपने हाईस्कूल के परीक्षा में सिर्फ 35-36 नंबर लाने के बावजूद अपने पढ़ाई को जारी रखा. और फिर पढ़ाई में ध्यान देना शुरू किए और जी तोड़ मेहनत करके पहले 12वीं पूरी की और फिर B.A. और B.Ed. पूरा की और इसके बाद बतौर सहायक शिक्षक भी बने और फिर यूपीएससी परीक्षा में भाग लिए और पास होकर आईएएस ऑफिसर बने.

उम्मीद करता हूं आप सभी को हमारा यह लेख पसंद आया होगा और आपने इंजॉय भी किया होगा. अगर आप आगे भी इसी तरह थी न्यूज़ अथवा इससे जुड़ी हुई कोई भी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे इस वेबसाइट पर हमेशा आते रहे.

दूसरे लाभदायक पोस्ट पढ़ें

Important Links

WTeckni HomeClick Here
Other postsClick Here
Join Telegram ChannelClick Here

Post navigation

Ahmed Ruhul Amin

हिंदी भाषा के माध्यम से सरकारी योजना, परीक्षा, नौकरी, तकनीक और ट्रेंडिंग जानकारी लिखना मुझे बहुत पसंद है.

Leave a Comment