SSC की तैयारी कैसे करें?

आज के युग में कंपटीशन की रफ्तार इतनी तेजी से बढ़ते जा रही है कि इस रफ्तार के दौरान किसी भी सरकारी नौकरी को हासिल करना बहुत ही कठिन हो गया है. आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएँगे की SSC की तयारी कैसे करें?

लगभग सभी विद्यार्थियों का सपना एसएससी क्लियर करने का होता है.

एसएससी एग्जाम में बहुत से ऐसे महत्वपूर्ण कोर्स है जिन्हें एसएससी एग्जाम को क्लियर करने के लिए उनकी जानकारी हासिल करना अनिवार्य है.

SSC एग्जाम क्या होती है? 

एसएससी एग्जाम एक सरकारी नौकरी है और आज की जेनरेशन में सरकारी नौकरी को पाना सभी विद्यार्थियों की सपना होती है.

अभी के समय में हर एक विद्यार्थी सरकारी नौकरी को पाना चाहता है, क्योंकि सरकारी नौकरी में सम्मान और इज्जत के साथ साथ रुतबा भी मिलता है.

SSC की फुल फॉर्म staff selection commission इसे हिंदी में कर्मचारी चयन आयोग भी कहा जाता है.

इस एग्जाम में बहुत सारे पोस्ट होते है। हर पोस्ट को पाने के लिए उम्मीदवार अपने अनुसार कोर्स को चयन कर उसमें सफल होने के लिए उस एग्जाम की तैयारी करने में मेहनत करते हैं, फिर उन्हें व पोस्ट हासिल होती है.

यह एक ऐसी विभाग होती है जो लाखों लाख विद्यार्थियों को सरकारी नौकरी प्रदान करती है. इसमें हर तरह के विद्यार्थी भागीदारी ले सकते हैं चाहे वह 10th पास हो या 12th पास हो या ग्रेजुएशन पास हो.

हर एक विद्यार्थी अपनी योग्यता के अनुसार एसएससी की तैयारी कर सकता है.

बहुत सारे पोस्ट होते हैं जिससे विद्यार्थी अपने अनुसार कोई भी पोस्ट का चयन कर उसकी तैयारी में जुट जाते हैं. एसएससी एग्जाम आज के जमाने में बहुत ही पॉपुलर हो चुका है.

क्योंकि इसमें बहुत सारे पोस्ट होते हैं जिससे योग्यता उम्मीदवार को रोजगार प्रदान किया जाता है.

एसएससी एग्जाम में हर स्टैंडर्ड के लिए अलग-अलग एग्जाम  होते हैं, जैसे 10वीं पास के लिए MTS एग्जाम, 12वीं पास के लिए CHSL एग्जाम तथा ग्रेजुएशन पास विद्यार्थी के लिए CGL एग्जाम होती है.

हर एक विद्यार्थी जो एसएससी की एग्जाम को क्लियर करना चाहते हैं, वह अपने स्टैंडर्ड के अनुसार एसएससी की हर पोस्ट को चयन कर उसकी तैयारी में लग जाते हैं.

इस एग्जाम में बहुत सारे पोस्ट होते हैं, जैसे सीबीआई पोस्ट, सीबीआई इंस्पेक्टर, तथा इनकम टैक्स ऑफिसर इत्यादि। जो विद्यार्थी जिस स्टैंडर्ड के अनुसार एग्जाम देते हैं उनको उनके एग्जाम के अनुसार पोस्ट दी जाती है.

SSC CHSL एग्जाम

एसएससी सीएचएसएल एग्जाम विद्यार्थियों पर आधारित है जिन्होंने 12th पास किए है. 12वीं पास स्टूडेंट एसएससी सीएचएसएल की फॉर्म अप्लाई कर सकते हैं.

इस का फुल फॉर्म combined higher secondary level होता है. जिसे ऑल इंडिया से हम एग्जाम के फॉर्म को अप्लाई कर सकते हैं.

एग्जाम में केंद्र सरकार के विभागों के अंदर में इनकी योग्यता के अनुसार पद प्रदान किया जाता है। लगभग 12वीं पास सभी विद्यार्थी की चाहत रहती है, एग्जाम को क्लियर करने की करने की लेकिन लेकिन हार्ड वर्क के साथ-साथ इमानदारी सारे कोर्स की जानकारी ग्रहण करता है.

क्योंकि एग्जाम भी बहुत हार्ड लेवल की होती है, जिसकी की बस की बात नहीं है.

शैक्षणिक योग्यता 

इस एग्जाम को क्लियर करने के लिए विद्यार्थी को किसी भी सब्जेक्ट से चाहे वह आर्ट्स हो  या कॉमर्स या साइंस हो 12वीं पास होना अनिवार्य है।

एसएससी सीएचएसएल की एग्जाम को क्लियर करने के लिए आपकी एज लिमिट मिनिमम 18 साल से मैक्सिमम 27 साल तक होनी चाहिए.

तभी आप इस एग्जाम के लिए फॉर्म अप्लाई कर सकते है, साथी ही दूसरे कोटि के लिए उम्र सीमा बढ़ाई भी जाती है.

लगभग विद्यार्थियों की सपना इस पॉपुलर एग्जाम को क्लियर करने की होती है, वह 12वीं पास करते हैं एग्जाम के लिए फॉर्म अप्लाई कर देते हैं.

जिसमें एप्लीकेशन फी जनरल के लिए ₹100 होती है वही फीमेल के लिए फिस माफ होती है.

जो विद्यार्थी में इतनी सारी क्वालिफिकेशन मौजूद हैं, वही विद्यार्थी इस एग्जाम के लिए फॉर्म अप्लाई कर सकते हैं.

लेकिन इतनी सारी योग्यताओं के रहने के बावजूद भी इस एग्जाम को बहुत कम ही विद्यार्थी क्लियर कर पाते हैं.

क्योंकि एग्जाम बहुत ही हार्ड लेवल का होता है। इसलिए इस एग्जाम की तैयारी के लिए विद्यार्थियों को कड़ी मेहनत के साथ-साथ इमानदारी से हर विषयों की जानकारी प्राप्त करना आवश्यक है तभी जाकर इस एग्जाम को क्रैक  कर सकते हैं.

SSC पोस्ट के प्रकार

एसएससी सीएचएसएल एग्जाम में केंद्र सरकार के विभाग के अंतर्गत बहुत सारे पोस्ट प्रदान किए जाते हैं जैसे:

  • Lower divisional clerk,
  • Junior secretariat assistant,
  • Postal assistant,
  • Sorting assistant,
  • Data entry operator,
  • Court clerk इत्यादि.

जो विद्यार्थी एसएससी सीएचएसएल के एग्जाम को क्लियर करने में सक्षम होते हैं उन्हें केंद्र सरकार के विभाग के अंतर्गत इन सभी पदों को प्रदान किया जाता है जिसमें उनकी योग्यताओं के अनुसार पद मिलती है.

आगे देखते है कि कैसे इन एग्जाम को क्लियर किया जाता है. 

1. CB (MCS)

उम्मीदवारों को इंग्लिश लैंग्वेज की जानकारी होनी चाहिए जो कि 50 मार्क्स की होती है, जिसमें उन्हें 25 मार्क्स लाना अनिवार्य है.

जनरल इंटेलिजेंस इसमें भी 50 मार्क्स की होती है, जिसमें 35 मार्क्स लाना अनिवार्य है.

इसके साथ क्वांटिटी एप्टिट्यूड यह भी 50 मार्क्स की होती है, जिसमें 25 मार्क्स लाना अनिवार्य होता है, साथ ही इस में नेगेटिव मार्किंग भी की जाती है.

  • Descriptive Paper

इसमें उम्मीदवारों को essay टाइप्स का कुछ लिखकर देना होता है।

  •  Typing / Skill test

इसमें उम्मीदवारों के पोस्ट के अनुसार डिपेंड होता है कि उन्हें टाइपिंग कि  स्किल टेस्ट देनी है या नहीं.

2. SSC MTS

एसएससी एमटीएस में वही उम्मीदवार भागीदारी ले सकता है, जो मान्यता प्राप्त स्कूल से बोर्ड परीक्षा पास हो. इस का फुल फॉर्म multi tasking staff होता है.

यह  एग्जाम दसवीं पास विद्यार्थियों पर बेस्ट है. दसवीं पास विद्यार्थी एग्जाम को क्लियर कर केंद्र सरकार के विभाग में अपना एक पद हासिल कर सकता है.

  • Qualification

जो उम्मीदवार एग्जाम फॉर्म अप्लाई करना चाहता है, उन्हें किसी भी मान्यता प्राप्त विद्यालय से 10वीं की बोर्ड परीक्षा पास होना अनिवार्य है.

तभी जाकर वह इस एग्जाम के लिए फॉर्म अप्लाई कर सकते हैं। एग्जाम के लिए उम्मीदवार की उम्र 17 साल से 25 साल के बीच होनी चाहिए.

  • Exam pattern

एसएससी के एमटीएस एग्जाम में पेपर 1 तथा पेपर 2 होते हैं, जैसे पेपर फर्स्ट में सीबीआई के एग्जाम होते हैं जो कंप्यूटर से के क्वेश्चन से आधारित होते हैं.

जिसमें ऑब्जेक्टिव टाइप क्वेश्चन पूछी जाती है, साथी इसमें जनरल इंटेलिजेंस, रीजनिंग, जनरल अवेयरनेस, न्यूमेरिकल एप्टीट्यूड इत्यादि से क्वेश्चन पूछे जाती है.

वही paper-2 में descriptive paper होती है जिसमें राइटिंग से संबंधित लिखित एग्जाम दी जाती है. इस एग्जाम में एप्लीकेशन फी ₹100 होती है जहां फीमेल के लिए माफ की जाती है.

3. SSC MTS post 

जो उम्मीदवार एग्जाम को इस एग्जाम को क्लियर करते हैं उन्हें उनके अनुसार सरकार के विभाग द्वारा पद प्रदान की जाती है जैस peon operator, Gardener, gatekeeper, watchmen, junior operator इत्यादि

एमटीएस एग्जाम को क्लियर करने के दौरान उम्मीदवारों को उनके अनुसार केंद्र सरकार विभाग द्वारा उन्हें पद दी जाती है और वह एक सरकारी नौकरी हासिल कर पाते हैं।

4. SSC CGL

एसएससी सीजीएल एक सरकारी नौकरी है जिसमें केंद्र सरकार उम्मीदवारों को कर्मचारी के रूप में चयन करती है यह एग्जाम ऑल ओवर इंडिया से अप्लाई किया जाता है।

  • Qualification

जो विद्यार्थियों की सपना एसएससी सीजीएल एग्जाम को क्लियर करना होता है उन्हें ग्रेजुएट पास होना अनिवार्य है क्योंकि यह ग्रेजुएशन लेवल की एग्जाम होती है जिसमें वही उम्मीदवार भागीदारी ले सकते हैं जो किसी भी विषय चाहे वह BA हो या B Com हो या फिर BSc से ग्रेजुएट हो.

  • Election procedure

इस एग्जाम का पैटर्न अलग-अलग है जैसे पहला सीबीई जिसमें कंप्यूटर बेस्ड क्वेश्चन पूछी जाती है, दूसरा डिस्क्रिप्टिव पेपर जिसमें लिखित एग्जाम होती है और इस एग्जाम में essay टाइप्स का कुछ क्वेश्चन का आंसर लिखना होता है.

इसके साथ तीसरा जिसमें पीटीसी या स्किल टेक्स्ट या डॉक्युमेंट वेरीफिकेशन होती है इसे उम्मीदवारों के पोस्ट के अनुसार ली जाती है.

5. CGL exam post

जो ग्रेजुएट पास विद्यार्थी एग्जाम को अप्लाई करते हैं और अपने कठिन परिश्रम के द्वारा इसे क्लियर करते हैं तत्पश्चात उन्हें केंद्र सरकार के विभाग के अंदर उनके अनुसार पद दी जाती है और वह पद Group B या Group  C में बंटे होते हैं।

ग्रुप बी में दिए जाने वाले पोस्ट

Assistant  audit officer, assistant accountant officer, assistant inspector, Central excise inspector इत्यादि

ग्रुप सी में दिए जाने वाले पोस्ट

Accountant, junior accountant, senior secretariat assistant, upper divisional clerk, task assistant, sab inspector इत्यादि.

एसएससी सीजीएल एग्जाम में जो विद्यार्थी पास होते हैं उन्हें इन सभी पोस्टों को प्रदान की जाती है जिसे वह सरकारी नौकरी हासिल करने में सक्षम हो पाते हैं

SSC एग्जाम की तैयारी कैसे करें?

एसएससी एग्जाम बहुत ही हार्ड लेवल की होती है इसे पास करना इतना आसान नहीं है.

इसलिए इस एग्जाम की हर एक कोर्स को आपको ईमानदारी और मेहनत पूर्वक करनी होगी और उसके लिए आपको एक अच्छी इंस्टिट्यूट और स्टडी की आवश्यकता है तभी आप इस एग्जाम को क्लियर करने में सक्षम हो पाएंगे.

यदि आप भी इस एग्जाम को क्लियर करने की चाहत रखते हैं, तो आपको एक महत्वपूर्ण रूटीन के साथ-साथ आपको इस एग्जाम से रिलेटेड सारे फॉर्मेट को समझने की आवश्यकता है.

जिससे आप इस एग्जाम से रिलेटेड सारे कोर्सों को आसानी पूर्वक पढ़ एग्जाम को क्लियर कर सकते हैं.

इसके साथ आपको अपने एग्जाम की तैयारी के लिए अच्छी इंस्टिट्यूट को चुनकर अपनी पढ़ाई को मेहनत और ईमानदारी पूर्वक पढे तथा आप इस एग्जाम को इंटरनेट की मदद से भी पढ़ सकते हैं क्योंकि इंटरनेट बेबी हर एक सवाल का जवाब आसानी से मिल जाता है.

हर एक एग्जाम के लिए सेल्फ स्टडी बहुत ही महत्वपूर्ण मानी जाती है जो विद्यार्थी में ज्यादा ध्यान देते हैं उनका एग्जाम आसानी क्लियर हो जाता है.

एग्जाम फॉर्मेट को समझना 

यदि आप एक एसएससी के उम्मीदवार हैं तो आपको एसएससी एग्जाम से संबंधित सारी जानकारी जैसे कौन-कौन से कोर्स पढ़ने होते हैं इसकी सिलेबस लिमिट क्या है तथा इससे संबंधित सारे एग्जाम फॉर्मेट को जानना अनिवार्य है.

हर एक उम्मीदवार जो एसएससी एग्जाम को क्लियर करना चाहते हैं उन्हें एसएससी से संबंधित सारी जानकारियां को जानना अनिवार्य है तभी वह एक अच्छे तरीके से एसएससी को पास कर सकते हैं.

अन्यथा नहीं क्योंकि बहुत से ऐसे विद्यार्थी हैं जो बिना फॉर्मेट को जाने ही इसकी तैयारी करने में लगे रहते हैं लेकिन उनका सिलेक्शन नहीं हो पाता इसलिए इस एग्जाम को सफल बनाने के लिए आपको इस एग्जाम से संबंधित सारी फॉर्मेट की जानकारी लेना आवश्यक है.

हर एक एग्जाम चाहे वह किसी भी स्टैंडर्ड की जाम हो उनके लिए हर उम्मीदवार को उससे संबंधित सारे फॉर्मेट को जानना चाहिए ताकि उनको पता चले कि वह जो एग्जाम की तैयारी कर रहे हैं उसके अनुसार उनको कौन से सब्जेक्ट में कितना पढ़ना है.

इन सभी को ध्यान में रखते हुए हर एक विद्यार्थी को अपने एग्जाम के फॉर्मेट को जानना चाहिए.

टाइम टेबल टेबल बनाए

कोई भी विद्यार्थी अगर किसी एग्जाम की तैयारी कर रहा है तो उसके लिए एक सुनिश्चित टाइम मैनेजमेंट होना बहुत ही आवश्यक है और टाइम मैनेजमेंट के लिए टाइम टेबल का होना भी आवश्यक है.

हर एक विद्यार्थी जो एग्जाम की तैयारी करते हैं उन्हें अपने अनुसार टाइम टेबल को बनाकर हर विषय को टाइम टू टाइम पढ़ने चाहिए.

टाइम टेबल बनाने से आपको पता चलता है कि आपको कौन से विषय में कितना टाइम देना है और कौन से विषय में कितना टाइम नहीं देना है.

टेबल से पढ़ने के बाद हमारे कोर्सों की पढ़ाई आसानी पूर्वक होती रहती है और हमें पढ़ने में भी मन लगा रहता है इसलिए पढ़ाई के लिए टाइम टेबल का होना बहुत ही आवश्यक है.

कमजोर विषय में ध्यान देना

एसएससी एग्जाम को क्लियर करने के लिए आपको हर सब्जेक्ट में मेहनत करनी होगी, हर सब्जेक्ट को अपनी कड़ी मेहनत और इमानदारी से पढ़ नहीं होंगी तभी आप एसएससी एग्जाम को क्लियर करने में सक्षम हो पाएंगे.

अधिकतर स्टूडेंट अपने कमजोर विश्व में ज्यादा न ध्यान देते हुए जो विषय में ज्यादा रूचि है उसमें ज्यादा ध्यान देकर एसएससी की तैयारी करते हैं लेकिन जब कमजोर विषय में हम ध्यान ही नहीं देंगे तो हमारा एग्जाम क्लियर कैसे होगा.

हर कैंडिडेट जो एसएससी की तैयारी कर रहे हैं उन्हें अपने कमजोर विषयों में ज्यादा ध्यान देकर अपने रूटिंग को फॉलो करें तभी आप एसएससी के एग्जाम को क्लियर करने में सफल हो पाएंगे.

रोजाना न्यूज़पेपर और मैगजीन पढ़ें

एसएससी कैंडिडेट को हर दिन के इस दुनिया में हो रहे हैं हर तरह की खबरों को जानना आवश्यक है क्योंकि एसएससी जनरल अवेयरनेस एक विषय है जिसमें पर डे इस वर्ल्ड में हो रहे हर प्रकार के न्यूज़ के आधार पर प्रश्न पूछे जाते हैं.

इसलिए आपको जहां तक  संभव हो न्यूज़पेपर मैगजीन ऑनलाइन आर्टिकल्स करंट अफेयर्स टीवी न्यूज़ इत्यादि से समाचारों को ग्रहण करने का प्रयास करना चाहिए.

मॉक टेस्ट प्रैक्टिस करें 

हर एक एसएससी कैंडिडेट को मौक टेस्ट प्रैक्टिस करनी चाहिए जिसमें वह अपने सिलेबस को जितना पढ़े है उनको एक टाइम लिमिट के अनुसार मौक प्रैक्टिस कर है हैबिट बनानी चाहिए.ताकि एग्जाम में वह टाइम अनुसार अपने क्वेश्चंस के सारे आंसर लिख पाये.

मॉक टेस्ट प्रैक्टिस करने से कैंडिडेट को एग्जाम के दौरान प्रश्न  हेल्प फुल लगता है जिससे वे अपने सारे प्रश्नों को टाइम अनुसार लिख पाने में सक्षम होते हैं.

स्ट्रेस फ्री रहे

यदि आप एसएससी की तैयारी कर रहे हैं तो आपको दिमाग के साथ-साथ शारीरिक रूप से भी स्वस्थ रहना आवश्यक है.

इसलिए आपको फ्री माइंड रहना बहुत जरूरी है क्योंकि फ्री माइंड बैलेंस है बीमारी हट जाती है.

ज्यादा पढ़ाई की टेंशन नहीं लेनी चाहिए अपने टाइम टेबल के अनुसार अपने स्टडी को फॉलो करना चाहिए जिससे आपको स्ट्रेस नहीं मिलेगी और स्क्रीन सही रहेगी तो आप बीमार भी नहीं पड़ेंगे इसलिए हर एक स्टूडेंट को स्ट्रेस फ्री स्टडी करनी चाहिए तभी वे अपने सिलेबस के अनुसार सभी कोणों की जानकारी हासिल करने में सक्षम हो पाएंगे.

सैलरी

एसएससी एग्जाम में हर स्टैंडर्ड के लिए अलग एग्जाम होती है और उनके हर एग्जाम के अनुसार उन्हें पोस्ट दी जाती है और उनके पोस्ट के अनुसार उन्हें सैलरी दी जाती है तो जैसा पोस्ट हो वैसा सैलरी मिलेगी जैसे:- 

अगर आप एमटीएस एग्जाम को क्लियर करते हैं तो आपको इसके पोस्ट के अनुसार 18 से 22 हजार तक की सैलरी प्राप्त होगी.

यदि आप सीएचएसएल एग्जाम को क्लियर करते हैं तो आपको उनके पोस्ट के अनुसार 25500 से 81 हजार तक सैलरी मिलेंगी वही सीरियल उनके पोस्ट के अकॉर्डिंग 25000 से 250000 की सैलरी मिलती है.

निष्कर्ष

आज की जेनरेशन में एसएससी जॉब इतना पॉपुलर हो गया है कि इसके पीछे लगभग सभी स्टूडेंट इसकी तैयारी में जुटे रहते हैं.

आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से एसएससी की तैयारी कैसे करें से संबंधित सभी जानकारियों को बताए हैं.

आशा है आपको समझ में आया हो। यदि आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया हो तो आप अपने दोस्तों में जरूर शेयर करें.

Wasim Akram

वसीम अकरम WTeckni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.

Leave a Comment