SSB की तैयारी कैसे करे?

आज का हमारा यह विषय उन विद्यार्थियों पर आधारित है जो एसएसबी की तैयारी करने में इच्छुक रहते हैं. इसीलिए आप इस आर्टिकल के माध्यम से एसएसबी की तैयारी कैसे करें? इससे संबंधित सारी जानकारियों को आपके समक्ष यहाँ पर शेयर करने जा

एसएसबी एक ऐसी सरकारी पद है जिसे एनडीए सीडीएस के एग्जाम को क्लियर करने के दौरान नहीं की जाती है. इस एग्जाम को वही विद्यार्थी क्लियर करने में सक्षम हो पाता है जिसका माइंड कैपेबिलिटी बहुत ही तेज हो.

हम इस आर्टिकल के माध्यम से इससे संबंधित सारी जानकारियों को आपको देने का प्रयास करेंगे.

SSB एग्जाम क्या है? 

एसएसबी एग्जाम एक ऐसा पद है जिसे अधिकतर स्टूडेंट पाने की चाहत रखते हैं लेकिन यह एग्जाम एक इंटरव्यू रूप में होता है जिसे कर पाना सब स्टूडेंट की बस की बात नहीं है. 

यह एकदम बहुत ही कठिन होती है जिसे वही विद्यार्थी क्लियर करने में सक्षम हो पाता है जिसका दिमाग अत्यधिक तीव्र गति से चलता है और जो हर चीजों को लॉजिकली रूप से देखता है. 

इस तरह के विद्यार्थियों से इस एग्जाम को क्लियर कर पाना संभव हो पाता है.

एसएसबी के इंटरव्यू तक वही विद्यार्थी पहुंच पाता है जो एनडीए और सीडीएस परीक्षा में सफल होते हैं. एनडीए और सीडीएस निकालने के बाद उम्मीदवार को एसएसबी इंटरव्यू में बुलाया जाता है. 

इंटरव्यू बहुत से चरण में होती है जिसमें उम्मीदवारों का खास करके पर्सनैलिटी चेक होती है जो उम्मीदवार अपनी पर्सनालिटी टेस्ट में सफल होते हैं वही इस एग्जाम को पाने में भी सक्षम हो पाते हैं.

एसएसबी इंटरव्यू में उम्मीदवारों का खास तौर पर पर्सनैलिटी चेक की जाती है जिसमें उन्हें अपने बुद्धि के साथ-साथ लॉजिकल ट्रिक्स को भी प्रदर्शित करना होता है.

इस इंटरव्यू में खास तौर पर यह देखा जाता है कि जो उम्मीदवार एसएसबी इंटरव्यू के लिए आए हैं उसमें ऑफिसर बनने की क्वालिटी है या नहीं.

पर्सनैलिटी टेस्ट ऑफिसर कैंडिडेट की पर्सनालिटी को बहुत ही कडाई पूर्वक इनकी पर्सनैलिटी को चेक करते हैं जिसमें जो कैंडिडेट ऑफिसर बनने के लायक होते हैं उन्हें चयन किया जाता है.

एनडीए और सीडीएस में पास होने के बाद एसएसबी इंटरव्यू में कैंडिडेट का बुलावा आता है जिसमें जो कैंडिडेट को एसएसबी इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है उन्हें वहां जाने के बाद 5 दिनों तक 17 एग्जाम देने होते हैं जिसमें पर्सनालिटी चेक के साथ-साथ कैंडिडेट के हर एक एक्टिविटी को जटिलता पूर्वक जांच की जाती है. 

एग्जाम को वही क्लियर कर पाता है जिसमें ईमानदारी के साथ साथ कठिन परिश्रम करने की क्षमता भी होती है क्योंकि इस एग्जाम में यदि आपको 80 परसेंट मानसिक रूप से देने होंगे तो वही कम से कम 20 परसेंट शारीरिक परिश्रम भी देने होते हैं.

SSB एग्जाम पैटर्न 

पहला दिन

इस दिन में टैक्स ऑफिसर द्वारा 2 पार्ट में उम्मीदवार की टेस्ट ली जाती है जिसमें उन्हें अपनी ईमानदारी और अपने कठिन परिश्रम को प्रदर्शित करना होता है.

पहला पार्ट – स्क्रीनिंग टेस्ट

  • इस टेस्ट में उम्मीदवारों के सामने 15 सेकंड के लिए एक इमेज को प्रदर्शित की जाती है जिसे देखने के बाद उम्मीदवारों को 3 मिनट तक उस इमेज के बारे में समझ कर लिखना होता है.
  • इसके दौरान स्क्रीनिंग टेस्ट में एक ग्रुप डिस्कशन होती है जिसमें कैंडिडेट को बिना बहस किए लॉजिकल प्वाइंट और लॉजिकल कंक्लुजन निकालना होता है जो अति अनिवार्य है.

दूसरा पार्ट

  • इस टेस्ट में उम्मीदवारों से हर्बल और नॉन वर्बल रीजनिंग का टेस्ट लिया जाता है तभी वह पहले दिन के टेस्ट में क्वालीफायर हो पाते हैं.

दूसरा दिन – फिजियोलॉजिकल टेस्ट.

इस टेस्ट में कैंडिडेट के लिए टोटल चार टेस्ट होते हैं जिन्हें देना अनिवार्य है.

पहला टेस्ट – Word Association Test.

इस टेस्ट के अंतर्गत उम्मीदवारों के लिए 15-15 सेकंड के लिए 60 शब्द स्क्रीन पर प्रदर्शित किए जाते हैं और उम्मीदवारों को हर शब्द का वाक्य बनाना होता है जिसमें हर वाक्य के लिए उन्हें 15 सेकंड मिलता है.

वर्ड एसोसिएशन टेस्ट अच्छा टेस्ट होता है क्योंकि इस टेस्ट के अनुसार सही कैंडिडेट मिल पाता है. 

इसमें हर वाक्य को बनाने के लिए 15 सेकंड का टाइम दिया जाता है जो कि बहुत ही कम होता है और इसमें अपना पर्सनैलिटी खुलकर बाहर निकालना होता है. 

इसे क्वालीफाई करने के लिए आपको कम से कम 45 शब्द प्रयास करने होंगे. लेकिन संभव हो तो आपको साथ के साथ शब्दों को प्रयास करें. इस टेस्ट में जितने भी शब्द आपको दिए जाते हैं उन सभी शब्दों का सही मतलब आप लोगों को पता होता है. 

यदि आप भी एसएसबी की तैयारी कर रहे हैं तो आपको वर्ड एसोसिएशन टेस्ट के लिए एक कॉलिंग जूनियर डिक्शनरी को लेकर आपको प्रैक्टिस करनी चाहिए यदि आपको 60 में से 60 शब्दों को प्रयास करना चाहते हैं. 

इस बुक की मदद से आप सुनिश्चित टाइम के अनुसार बहुत से शब्दों को कम टाइम में वाक्य बनाने में प्रयास कर सकते हैं जिससे आपका एग्जाम भी अच्छे तरीके से हो सके.

दूसरा टेस्ट – Thematic Apperception Test.

इस टेस्ट के अंतर्गत आपको पेंसिल का स्क्रैच किया हुआ दिखाया जाता है जिसमें ज्यादा क्लियर दिखाई नहीं देता और आपको 15 सेकेंड के अंदर उस स्क्रीन पर दिखाए गए चीजों को एक्सप्लेन करना होता है यह 14 टाइम्स के लिए होता है और 15 टाइम्स में स्क्रीन अगले 3 मिनट तक या तो ब्लैक हो जाती है या तो वाइट हो जाती है जिसमें आपको जो अच्छा लगे वह आप लिख सकते हैं जिससे आपकी पर्सनैलिटी टेस्ट की जाती है.

तीसरा टेस्ट – Situation  Reaction Test.

इस टेस्ट के अंदर आपको एक बुकलेट प्रदान की जाएगी जिसमें आपको यह लिखकर बतानी होती है की यदि आपके सामने कोई सिचुएशन आए तो आप इस सिचुएशन से कैसे  मुकाबला करोगे.

इस टेस्ट की खास बात यह है की जैसे ही कैंडिडेट को बुकलेट मिलती है वह पॉजिटिव थिंकिंग में चले जाते हैं और हर जगह मैं इसलिए  पॉजिटिव में अच्छा लिखते चले जाते हैं, जो उनके लिए हानिकारक है.

इसलिए इस टेस्ट को देने के लिए आपको समझ कर और इमानदारी पूर्वक देनी होगी तभी आप पास हो पाएंगे क्योंकि चाहे आप कुछ भी लिख दे GDO 1 और GDO 2 आप की असलियत निकाल कर रहते हैं. इसलिए इसमें आपको अपनी इमानदारी और अपनी मेहनत दिखानी होगी तभी जाकर आप इसमें सफल हो पाएंगे.

चौथा टेस्ट – Self Description Test.

इस टेस्ट में खास तौर पर चार चीजों को ध्यान पूर्वक देखी जाती है जिसमें पहला की आप अपने साथ वाले के बारे में क्या सोचते हैं और आपके साथ रहने वाले आपके लिए अपने मन में कैसा विचार रखते हैं? 

दूसरा, आपके पैरेंट्स आपके बारे में क्या सोचते हैं और आप अपने पेरेंट्स के लिए अपने मन में क्या विचार करते हैं? तीसरा आप अपने फ्रेंड्स के बारे में क्या सोचते हैं और आपके फ्रेंड आपके बारे में क्या सोचते हैं? 

चौथा, आप अपने बारे में क्या सोचते हैं और आप कितने हद तक सही हैं.

आप इन सभी दोस्तों को सही पूर्वक देने में सफल हो पाते हैं तभी वे आपको ऑफिसर के तौर पर जज करने में सक्षम हो पाते हैं. सबसे खास बात की सेल्फ डिस्क्रिप्शन टेस्ट के बाद आपको कभी भी इंटरव्यू के लिए बुलाया जा सकता है.

तीसरा और चौथा दिन

तीसरा दिन और चौथा दिन को मिलाकर GDO 1 और  GDI 2 होता है इसमें ग्रुप ट्रेनिंग ऑफिसर आपके अलग अलग तरीकों से 10 तरह के टेस्ट लेते हैं तथा इन दोनों दिनों में मिलाकर यह चेक किया जाता है कि आप हमें ग्रुप कोआर्डिनेशन और प्रॉब्लम सॉल्विंग स्किल्स है या नहीं. 

इसके अलावा जिस क्वालिटी की चेक की जाती है वह है कि आप एजट टीम मेंबर कैसे परफॉर्म कर सकते हैं.

पांचवा दिन

इस दिन में उम्मीदवारों का इंटरव्यू होता है जिन का इंटरव्यू पहला दूसरा तीसरा तथा चौथे दिन नहीं हुआ होता है. 

इसमें रिजल्ट अनाउंसमेंट किए जाते हैं तथा उम्मीदवारों द्वारा दिया गए  समय के लिए धन्यवाद बोला जाता है .

SSB इंटरव्यू की तैयारी कैसे करें? 

एसएसबी इंटरव्यू एग्जाम है जो बहुत ही जटिल है इसे पास करने के लिए एसएसबी की सारी जानकारी होना आवश्यक है इसके साथ सभी जानकारियों को हासिल कर उसके अनुसार एसएसबी के लिए अपने आपको तैयार करना भी अनिवार्य है तभी जाकर आप एसएसबी में सफल हो पाएंग.

एसएसबी की हर चरणों को समझ कर इसकी तैयारी  शुरू करना चाहिए.

एसएसबी इंटरव्यू की तैयारी के आवश्यक जानकारी:- 

करंट अफेयर्स

जो विद्यार्थी एसएसबी की तैयारी में जुटे हैं उन्हें करंट अफेयर्स की जानकारी हर दिन हासिल करनी चाहिए क्योंकि इस इंटरव्यू में साइकोलॉजिकल टेस्ट, लेक्चर राउंड, पर्सनालिटी इंटरव्यू इन सभी के लिए करंट अफेयर्स की जानकारी होना बहुत ही आवश्यक है, की जानकारी रहने से आप लॉजिकल रुप से सोच कर अपने आप को अच्छे तरीके से प्रदर्शित कर पाएंगे.

जहां तक संभव हो हर एक उम्मीदवार जो एसएसबी इंटरव्यू में जाते हैं उन्हें करंट अफेयर्स के साथ-साथ न्यूज़पेपर टीवी न्यूज़ फेसबुक इत्यादि के लगभग सभी जानकारियों को लेने का प्रयास करना चाहिए क्योंकि यदि आपके पास इन सभी चीजों की जानकारी है तो आपको एसएसबी इंटरव्यू में पूछे जाने वाले सवालों से डरना नहीं पड़ेगा.

आप आसानी पूर्वक इंटरव्यू दे सकते हैं क्योंकि अधिकतर क्वेश्चन इंटरव्यू से ही पूछी जाती है इसलिए करंट अफेयर आपके लिए हेल्पफुल है.

कॉमन टॉपिक्स

यदि आप एसएसबी के कैंडिडेट हैं तो आपको बहुत से कॉमन टॉपिक्स का नॉलेज रखना अनिवार्य है क्योंकि एसएसबी इंटरव्यू में बहुत सारे कॉमन टॉपिक को से भी क्वेश्चन पूछी जाती है जिसके अंतर्गत भूगोल इतिहास राजनीतिक शास्त्र इत्यादि जैसे विषय.

इन सभी विषयों की जानकारी निम्न स्तर से उच्च स्तर तक की होनी चाहिए ताकि इंटरव्यू में इन सभी विषयों से पूछे जाने वाले प्रश्नों को आप डील कर सके.

टेक्निकल और एकेडमिक नॉलेज

हर एक उम्मीदवार जो एसएसबी इंटरव्यू के लिए तैयारी कर रहे हैं उन्हें टेक्निकल और एकेडमिक नॉलेज होना बहुत ही जरूरी है क्योंकि अधिकतर इंटरव्यू ऑफिसर आपके टेक्निकल और एकेडमिक नॉलेज को भी पूछ कर सेटिस्फाई होते हैं ताकि उन्हें लगे कि आप एक अच्छे विद्यार्थी के साथ अपनी पढ़ाई टेक्निक रूप से की है.

अपने मूल स्थानों के बारे में जानकारी रखें 

हर एक उम्मीदवार को अपने मूल स्थानों के बारे में जानकारी रखनी चाहिए जैसे उनके स्थान से रिलेटेड और सभी जगहों की जानकारी रखना उनसे संबंधित लोगों की जानकारी, सरकारी संगठनों की जानकारी रखना जहां से वह बिलॉन्ग करते हैं इन सभी चीजों को इंटरव्यू ऑफिसर लगभग सभी इंटरव्यू में इससे संबंधित क्वेश्चन पूछते हैं.

इसलिए आपको अपने मूल स्थान के सभी जानकारियों को रखना अनिवार्य है तभी, यदि आप से स्थानों से संबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे तो आप देने में सफल हो पाएंगे.

टाइम टेबल 

हर एक एग्जाम चाहे वह किसी भी चीज की हो इसके लिए सभी उम्मीदवारों को दिल्ली रूटिंग को फॉलो करना आवश्यक है क्योंकि जब आप टाइम मैनेजमेंट करना सीख जाएंगे तो आपको विषयों की जानकारी हासिल करने में कोई दिक्कत नहीं होगी. 

टाइम मैनेजमेंट के लिए टाइम टेबल होना बहुत ही जरूरी है इसलिए हर एक उम्मीदवार को टाइम टेबल बनाकर अपने सारी कोर्सों की पढ़ाई करनी चाहिए इससे वे हर एक विषयों में ध्यान दे सकते हैं यदि वह कोई विषय में विक है तो विक विषय के लिए थोड़ा ज्यादा टाइम दे. 

इस तरह टाइम टेबल के अनुसार पढ़ने से हर विषय की जानकारी आसानी पूर्वक प्राप्त होती है और यह टाइम टेबल आपको सफल होने में मदद भी करती है.

शारीरिक फिटनेस

एसएसबी की तैयारी कर रहे हैं हर विद्यार्थी को शारीरिक फिटनेस रखने की आवश्यकता है क्योंकि 2 दिनों की जीटीयू टेस्ट में आपको शारीरिक रूप से पास करना होता है जो बहुत ही आवश्यक है.

इसलिए हर एक उम्मीदवार को अपने शरीर को फिट रखना जरूरी है इसके लिए टाइम के अनुसार पौष्टिक आहार को खाना चाहिए तभी आप फिट रहेंगे.

शारीरिक फिटनेस रहने से हमारी मानसिक स्थिति हमारे अकॉर्डिंग कार्य करती है यदि हम फिट ना रहे तो हमारा दिमाग हमारी पढ़ाई की ओर नहीं रहेगी इसलिए पढ़ाई में अच्छे से ध्यान देने के लिए अपने शरीर को फिट रखना आवश्यक है.

निष्कर्ष

 यदि आप एसएसबी के कैंडिडेट हैं तो आपको एसएसबी की बुक की सारी क्वेश्चंस का आंसर खुद से लॉजिकल रूप से देने का प्रयास करें.

इसके साथ आप खुद को एक ऑफिसर मान कर ऑफिसर की हर एक्टिविटी को अपनाएं. हम इस आर्टिकल एसएसबी की तैयारी कैसे करें? के माध्यम से आपको सारी जानकारी देने का प्रयास किए हैं.

आशा है आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हूं यदि आपको पसंद आया हो तो आप अपने दोस्तों को शेयर करें.

Wasim Akram

वसीम अकरम WTeckni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.

Leave a Comment