Ethical Hacker कैसे बने?

हैकर से जुड़े काम आज के जनरेशन में बहुत ही पॉपुलर है. इस प्रोफेशन को कुछ युवा सीखने में सफल हो पाते हैं जो इस क्षेत्र में बहुत ज्यादा रूचि रखते हैं. इसीलिए आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे की Ethical Hacker कैसे बने?

हमारा आज का यह विषय युवाओं के लिए है जो हैकर बनने की सपना रखते हैं. युवाओं को इस तरह के तरह के प्रोफेशन में जाने की काफी ज्यादा इच्छा रहती है.

तो चलिए अब इस विषय पर आपको बताते हैं पुरे विस्तार से.

एथिकल हैकर क्या होता है? 

हैकर एक ऐसा नाम है जिसका मतलब लगभग सभी को गलत काम लगता है, लेकिन हैकर कई प्रकार के होते हैं जो अपने-अपने तरीकों से हैकिंग का काम करते हैं.

कुछ हैकर गलत तरीकों से हैकिंग का काम करते हैं तो कुछ हैकर सही तौर तरीके से हैकिंग का काम करते हैं.

कुछ हैकर ऐसे होते हैं जो हैकिंग का काम करने के पहले अथॉरिटी से परमिशन लेते हैं तब जाकर वह अपने हैकिंग की प्रक्रिया करना शुरू करते हैं इसे व्हाइट हट हैकर भी कहा जाता है.

यह हैकर्स लीगल तरीके से हैकिंग की प्रक्रिया कर पैसे लेते हैं.

कुछ ऐसे हैकर होते हैं जो हैकिंग करते समय किसी की परमिशन लेने की जरूरत नहीं समझते हैं और साथ ही इललीगल तरीके से हैकिंग की प्रक्रिया जारी रखते हैं इसके दौरान इन्हें पैसे भी मिलते हैं ऐसे हैकर्स को ब्लैक हट हैकर कहा जाता है.

अब बात आती है एथिकल हैकर की तो आपको बता दें की एथिकल हैकर वह होते हैं जो हैकिंग करने के समय अपने अथॉरिटी से परमिशन लेने के दौरान ही अपनी हैकिंग की प्रक्रिया शुरू करते हैं.

एथिकल हैकर सिस्टम की कमियों को पता कर उन्हें और एक्सेस करते हैं.

एथिकल हैकर को बिजनेस फेसबुक, गूगल, गवर्नमेंट ऑर्गेनाइजेशन तथा पुलिस द्वारा इन को हायर किया जाता है तथा यह इन सभी के नेटवर्क के सिक्योरिटी को मजबूत करने का काम करते हैं ताकि कोई ब्लैक हैकर इनकी नेटवर्क को हाइक ना कर सके.

साथ में इनका काम ब्लैक हैकर्स को पकड़ने का भी होता है ताकि इल्लीगल काम रुक सके.

जो हैकर्स गलत तरीकों से हैकिंग की प्रक्रिया करते हैं उनके द्वारा जनता के साथ-साथ सरकार  को बहुत ही परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

इसी परेशानियों को हटाने के लिए वाइट हैकर्स इन ब्लैक हैकर्स को पकड़ने का भी काम करते हैं ताकि जनता ब्लैक हाई करो से बच्चे.

एथिकल हैकिंग कोर्स क्यों करें? 

आज की जनरेशन में एथिकल हैकर्स का डिमांड हमारे देश में बहुत ही ज्यादा है क्योंकि इनकी जरूरत बहुत से डिपार्टमेंट में है.

अगर एथिकल हैकर्स ना हो तो हमारे सारी संस्था की सिक्योरिटी लूज पड़ जाएगी जिससे ब्लैक हैकर अपने गलत तरीकों से हमारी संस्थाओं को लूट लेंगे.

हमारे भारत देश मे एथिकल हैकर्स की लगभग 75000 डिमांड है लेकिन केवल 15000 युवा ही है जो यह कार्य करने में सक्षम हैं.

यदि आप एक एथेटिक हैकर्स बनना चाहते हैं तो आपको कंप्यूटर से रिलेटेड हर एक जानकारी को इमानदारी पूर्वक जानना होगा तभी आप एक सफल हैकर बनने में सक्षम हो पाएंगे.

इसके लिए आपके पास एक्सीडेंट दिमाग होना चाहिए ताकि आप हर एक चीज को तुरंत कैच कर सके.

हैकिंग का काम होता है की सिस्टम में जो भी कमियां होती है उन्हें ढूंढ कर उसकी सुधार कर उसकी सिक्योरिटी को और मजबूत किया जाता है.

ऑर्गनाइजेशन की प्राइवेसी को प्रोटेक्ट करने के लिए भी हैकिंग की जाती है ताकि हमारा डिपार्टमेंट हैक ना हो सके.

बहुत से युवा हैकिंग के कामों में इंटरेस्ट रखते हैं वह हैकिंग काम बहुत ही इंटरटेनमेंट के तरीकों से करते हैं.

इन सभी कामों के लिए हैकिंग की जाती है ताकि हमारा हर एक डिपार्टमेंट ब्लैक हैकर से सुरक्षित रहे.

एथिकल हैकर बनने के फायदे

एथिकल हैकर ऐसे हैकर होते हैं जो सही तरीकों से डिपार्टमेंट हो या सिस्टम हो उनकी सारी जानकारी को जानने में सक्षम होते हैं उनकी कमियों को सुधार कर उनकी सिक्योरिटी को मजबूत करने का काम करते हैं.

एथिकल हैकर के बहुत से फायदे है जैसे: – 

सिस्टम की कमियों को ढूंढ कर उन्हें एक्सेस करते हैं इसमें एथिकल हैकर का इस्तेमाल किया जाता है.

साइबर क्राइम करने वाले साइबर क्रिमिनल्स को पकड़ने के लिए एथिकल हैकर्स का  इस्तेमाल किया जाता है.

सिस्टम के नेटवर्क की सिक्योरिटी को मजबूत बनाने के लिए एथिकल हैकर्स का इस्तेमाल किया जाता है.

ब्लैक हट हैकर से बचने के लिए एथिकल हैकर्स का होना बहुत ही जरूरी है तभी हमारा सिस्टम या डिपार्टमेंट सुरक्षित रह पाएगा क्योंकि हैकर्स के द्वारा ही हमको पता चलता है कि हमारा सिक्योरिटी कितनी मजबूत है या लूज है.

एथिकल हैकर बनने की योग्यता

यदि आप एक एथिकल हैकर बनने की चाहत रखते हैं तो  बहुत से ऐसे डिग्री है जो प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के अकॉर्डिंग करनी होगी क्योंकि हैकर्स के जितने भी काम है वो प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के द्वारा ही होता है.

यदि आपको एथिकल हैकर बनना है तो आपको टेक्नोलॉजी के फील्ड में बैचलर डिग्री करनी होगी तथा नेटवर्क सिक्योरिटी में डिप्लोमा करनी होगी.

हैकर्स के जॉब में पोस्ट जॉब करने के लिए बहुत सी डिग्री है जो अनिवार्य है जैसे इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, इंजीनियरिंग तथा कंप्यूटर साइंस में बैचलर डिग्री होनी चाहिए.

आपके अनुसार चयन किए गए डिग्री में प्रोग्राम की स्टडी होना अनिवार्य है क्योंकि बिना प्रोग्राम स्टडी के आप हैकर नहीं बन सकते क्योंकि प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का यूज कर हैकर्स किसी भी एप्लीकेशन सिक्योरिटी को तोड़ने में सक्षम हो पाता है.

जिससे पता चलता है कि सिक्योरिटी हमारा कितना मजबूत है.

इसके साथ कुछ ऐसे जानकारी है जिन्हें जानना एक हैकर के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है:-

1. लिनक्स की जानकारी

कंप्यूटर की जानकारी के साथ-साथ एक हैकर को लिनक्स की जानकारी भी रहना बहुत ही महत्वपूर्ण है. लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसे हैकर का ऑपरेटिंग सिस्टम भी कहा जाता है.

क्योंकि नॉर्मल विंडो में हैकिंग नहीं की जा सकती है अगर हैकिंग सीखनी है तो आपको लिनक्स की जानकारी होना बहुत ही अनिवार्य है.

जितने भी हैकिंग के सॉफ्टवेयर आते हैं वह लिनक्स के लिए ही बनते हैं तो इन सब के लिए आपको लिनक्स की जानकारी होना बहुत ही आवश्यक है.

2. हाई स्पीड इंटरनेट

हैकिंग के क्रियाकलापों को करने के लिए इंटरनेट की स्पीड बहुत ही तेज होनी चाहिए तभी हैकिंग के कार्य शीघ्रता पूर्वक होगी.

नेटवर्क की स्पीड तेज होने से हैकिंग की जो भी प्रक्रिया है उसमें तनिक भी देर नहीं होती.

एथिकल हैकर बनने का तरीका? 

यदि आप एक सफल एथिकल हैकर बनना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले कंप्यूटर की बेसिक नॉलेज की जानकारी रखना अनिवार्य है.

कंप्यूटर के प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की जानकारी हासिल करनी होगी क्योंकि बिना प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के आप कंप्यूटर के किसी भी कोडिंग को क्रैक नहीं कर सकते इसलिए कंप्यूटर के प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की जानकारी होना अनिवार्य है एक एथिकल हैकर के लिए.

कंप्यूटर का बेसिक नॉलेज

एक सफल हैकर वही बन पाता है जिसके पास कंप्यूटर की बेसिक नॉलेज की जानकारी उपलब्ध हो क्योंकि बिना कंप्यूटर की मूल बातों को जाने बगैर आप हैकिंग की कामों में आगे नहीं बढ़ सकते.

कंप्यूटर की बेसिक नॉलेज में आपको कुछ प्रोसेस के बारे में जानना होगा जैसे,

  • विंडो बूटिंग क्या है?
  • ऑपरेटिंग सिस्टम को कैसे इनस्टॉल करें?
  • मास्टर बूट रिकॉर्ड क्या होता है?
  • किस तरीके से मॉडिफाई किया जाता है?
  • फाइल सिस्टम क्या है?
  • Fat32,NTFS,Ext,2/3/4 swap, Hfst क्या है? 
  • Bios क्या है?
  • Legacy bios औरuefi Bois मैं क्या अंतर है.

नेटवर्किंग की जानकारी

जो युवा एथलीट हैकर बनने की चाहत रखते हैं उन्हें कंप्यूटर के बेसिक नॉलेज के साथ-साथ नेटवर्किंग की नॉलेज की भी जानकारी रखना अति आवश्यक है.

यदि वे वर्किंग की नॉलेज नहीं रखते हैं तो वह हैकिंग के कामों में अपना योगदान अच्छी तरीके से नहीं दे पाएंगे.

कुछ नेटवर्किंग जानकारी हम आपको बता दे रहे हैं जैसे

Topology क्या है?

Link, note, lan, wan, man, और tcp क्या होता है? इसकी जानकारी जाना एक घर के लिए बहुत ही आवश्यक है.

Switch,router,moden, और hub क्या होता है इसके कार्य क्या होते हैं यह कैसे काम करता है? 

Ip क्या होता है? Ipv4, ipv6 क्या होता है तथा इनके बीच के अंतर को जानना अति आवश्यक है.

Protocol प्रकार के होते हैं, जानकारी भी रखना बहुत ही अनिवार्य है.

Prot क्या होता है और रूट फॉर वेडिंग कैसे होता है इसके साथ nat, DHCP, sunething, dns ARP osi models क्या होता है इनकी जानकारी भी एक हैकर को रखनी चाहिए.

प्रोग्रामिंग लैंग्वेज

एक  हैकर को प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की जानकारी होना अनिवार्य है. बिना प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के  आप एक हैकर नहीं बन सकते हैं.

एक हैकर के लिए प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की जानकारी बहुत ही महत्वपूर्ण है जैसे c, c++, java, ruby, pythan, html, php इसके साथ स्क्रिप्ट में जावास्क्रिप्ट शेल स्क्रिप्ट की भी जानकारी होना अति आवश्यक है.

साइबर लॉ और साइबर क्राइम

एक हैकर के लिए साइबर लॉ और साइबर क्राइम की जानकारी रखना बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि बिना साइबिल और साइबर क्राइम की जानकारी के आप हैकर नहीं बन सकते.

यदि आप हैकर बन भी गए हैं और आपके पास साइबर लॉ और साइबर क्राइम की जानकारी नहीं है आप काम कर रहे हैं तो यह  एक क्राइम कहलाएगा.

यदि आप इसकी जानकारी के बिना किसी चीज को हाइक कर रहे हैं तो आपको पता ही नहीं चलेगा कि यह लीगल है या इल्लीगल है इस तरह आप एक ब्लैक हट हैकर भी कहला सकते है .

सोशल इंजीनियरिंग 

एथिकल हैकर के लिए सोशल इंजीनियरिंग की जानकारी होना अति अनिवार्य है क्योंकि सोशल इंजीनियरिंग की सहायता से आप किसी भी व्यक्ति के इंफॉर्मेशन की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

सोशल इंजीनियरिंग की जानकारी के मदद से आप किसी भी व्यक्ति का इंफॉर्मेशन से उसकी हर एक एक्टिविटी को जान सकते हैं.

इन सभी जानकारी को रखने से एक हैकर सफल हैकर बन सकता है.

बेसिक नॉलेज ऑफ हैकिंग

जो युवा हैकर बनने की सपना देखते हैं उनके पास हैकिंग का बेसिक नॉलेज होना बहुत ही महत्वपूर्ण है.

1. बेसिक कंप्यूटर स्किल

जो युवा हैकर बनना चाहते हैं उनको बेसिक कंप्यूटर स्किल की जानकारी होना अनिवार्य है जिसमें इंटरनेट कैसे ऑन होता है?

डॉस कमांड क्या होता है या कैसे कार्य करता है कौन कौन से दोस्त कमांड है इन सभी दोस्त कमांड को याद रखना अनिवार्य है. कमांड कैसे लिखा जाता है? इसका रिजल्ट क्या होता है? इनकी जानकारी रखना आवश्यक है.

रजिस्ट्री क्या होता है इसमें काम क्या होता है इसको कैसे एडिट किया जाता है तथा इसे इंसर्ट कैसे किया जाता है इनकी जानकारी भी एक हैकर  के लिए रखना बहुत ही आवश्यक है.

2. प्रोग्रामिंग लैंग्वेज 

हैकर द्वारा जो एप्लीकेशन हैक किया जाता है वह किसी ना किसी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से बना होता है वह प्रोग्रामिंग लैंग्वेज आनी बहुत ही जरूरी है जैसे c c++,html,ruby , python, इत्यादि की जानकारी होना आवश्यक है.

3. नेटवर्किंग स्किल

इस स्कूल में टीसीपी, आईपी, टेलनेट सबनेट, आईपीसी 4 की जानकारी होनी चाहिए.

4. लिनक्स स्किल

इसकी सारी जानकारी होना आवश्यक है इसके साथ यह खुलता कैसे हैं यह काम कैसे करता है इसका काम क्या होता है यह भी जानकारी होना चाहिए.

5. टाटा बेस नॉलेज

किसी भी वेबसाइट को हैक करने के लिए आपको डेटाबेस नॉलेज की जानकारी होना चाहिए. डेटाबेस क्या होता है यह काम कैसे करता है तथा इसका कार्य क्या होता है? 

इसे इंसर्ट और डिलीट कैसे किया जाता है इसके हर एक क्रियाकलापों की जानकारी होना अनिवार्य है.

इतनी सारी बेसिक स्किल आपके पास हो तब आप एक सफल हैकर बन सकते हैं.

एथिकल हैकर के कोर्स कैसे करें?

अगर आप एक एथिकल हैकर बनना चाहते हैं तो आपको बहुत से ऐसे कोर्स है जो करनी होंगी इसके साथ इन सभी कोर्सो की सर्टिफिकेट की जरूरत होती है.

बहुत से ऐसे कोर्स है जिसे आप एथिकल हैकर बनने के लिए कर सकते हैं जैसे:- 

Ceh, cept, oscp, essa, cissp, eh academy, cise, cybrary, station x, offensive security यह सभी कोर्सों को कंप्लीट कर आप हैकर की तैयारी कर सकते हैं.

इन कोर्सों को करने के दौरान सर्टिफिकेट भी जरूरी होता है इनकी पढ़ाई करने के दौरान आपको हैकिंग की शादी नॉलेज प्राप्त हो जाएंगी दिल से आप एक सफल हैकर बन सकते हैं.

एथिकल हैकिंग कैसे सीखे? 

यदि आप एक सफल हैकर बनना चाहते हैं तो आपको बहुत से ऐसे नॉलेज है जिसकी जानकारी होना अति अनिवार्य है.

आपको कुछ ऐसे स्पेशल नॉलेज की जानकारी बता रहे हैं जो एक हैकर में होना अति अनिवार्य है.

यदि कोई युवा हैकिंग के कार्य को सीख रहा है तो उसे ऑपरेटिंग सिस्टम ऑपरेटिंग सिस्टम वेबसाइट सर्वर मैनेजमेंट तथा नेटवर्क के बेसिक जानकारी सीखनी चाहिए.

आप एक हैकर है तो आपको पता होगा कि सिस्टम को हैक करने के लिए एक्सप्लोरर पर लोड की प्रैक्टिस होनी आवश्यक है इसके साथ रिसर्च करने के लिए हर ऑपरेटिंग सिस्टम और नेटवर्क में यह पॉसिबल है.

हैकिंग के दौरान बैक डोर का इस्तेमाल करना अति आवश्यक है. मॉनिटर बैक डोर सिस्टम को करने में अपना योगदान देता है.

यदि हैकर चाहे तो इंटरनेट की मदद से अपनी हैकिंग की सारी कोर्स सीख सकते हैं नेट की मदद से हैकिंग की सारी जानकारी आपको मिल सकती है तो आप चाहें तो नेट की मदद से हैकिंग की प्रक्रिया सीख सकते हैं.

यदि आप एक  हैकर हैं तो हैकिंग की जानकारी सीखते समय आपको लिनक्स की जानकारी भी सीखनी अति आवश्यक है क्योंकि हैकिंग में लिनक्स अपना बहुत बड़ा योगदान देता है.

भारत में हैकर को प्राप्त होने वाले जॉब

भारत में एथिकल हैकर्स के लिए बहुत से ऐसे पोस्ट हैं जो एक हैकर ले सकता है. बहुत से ऐसे जॉब है जो हैकर ले सकता है जो  इसकी पढ़ाई पूरी कर चुके हैं.

हम आपको कुछ ऐसे जॉब्स है जो इंडिया में उपलब्ध है उनके बारे में बताने जा रहे हैं.

  1. Information security 
  2. Penetration tester
  3. Security consultant
  4. Information security manager
  5. Ethical hacker
  6. Security analyst
  7. Ethical hacking consultant
  8. Certified ethical hacker

इन सभी जॉब में आप अपने अनुसार जैसे आपकी नॉलेज क्षमता है उसके अनुसार आप चयन कर सकते हैं.

हैकिंग की प्रक्रिया बहुत तरह की होती है जिसमें हैकर अलग-अलग तरीकों से हैकिंग करते हैं.

इसमें भी बहुत तरह के हैं हैकर अपने-अपने तरीकों से हैकिंग की प्रक्रिया को करते हैं जैसे व्हाइट हट हैकर लीगल तरीके से हैकिंग की प्रक्रिया को कर डिपार्टमेंट की सिक्योरिटी स्ट्रांग करती है.

वहीं दूसरी तरफ ब्लैक हट हैकर बिना अथॉरिटी के परमिशन के हैकिंग की प्रक्रिया करते हैं.

एथिकल हैकर की सैलरी

एथिकल हैकर की सैलरी हर कंट्री में अलग-अलग होती है जैसे अमेरिका में एथिकल हैकर की सैलरी कुछ अलग होती है वही इंडिया में कुछ अलग.

भारत देश में एथिकल हैकर की सैलरी 25 लाख से 3000000 तक की होती है.

निष्कर्ष

अब आपको एथिकल हैकर से संबंधित कोई भी बातों की संकोच नहीं होनी चाहिए. हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से एथिकल हैकर कैसे बने? इसकी सारी बातें बता दी हूं.

आशा है आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो. यदि आपको पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों में शेयर कर सकते हैं.

Wasim Akram

वसीम अकरम WTeckni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.

Leave a Comment