E Shram Card से अभी कॉफी श्रमिक कार्ड रह गए हैं पैसा मिलने से वंचित उनको मिलेगा पैसा यहाँ देखें लिस्ट

ई-श्रम कार्ड हमारे देश के केंद्र सरकार द्वारा हमारे भारत के कई असंगठित एरिया के करोड़ों मजदूरों का डेटाबेस को तैयार करने के लिए तथा उसका सुरक्षित रखरखाव करने के लिए शुरू किया गया है। कहा जाता है कि इस इ-श्रम कार्ड का मुख्य उद्देश्य यह है कि हमारे देश के सभी लगभग करोड़ों की संख्या वाले श्रमिकों को खुशियां प्रदान करना है.

अभी तक जब से यह कार्ड को केंद्र सरकार के द्वारा लागू किया गया है था तब से लगभग करोड़ों ई-श्रम कार्ड धारक बन चुके हैं। यह माना जाता है की ई-श्रम कार्ड के अनुसार देश के श्रमिकों का यह एक राष्ट्रीय डेटाबेस के रूप में है। जिसके अंतर्गत श्रम मंत्रालय के द्वारा हमारे देश के श्रमिक प्रधानमंत्री वर्तमान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा घोषित किया गया था।

इसका प्रमुख लक्ष्य है कि इस श्रम कार्य के तहत 38 करोड़ से ज्यादा मजदूरों को जोड़ना और उन्हें श्रम कार्ड के साथ साथ खुशियां प्रदान करना। यह कार्ड देखा जाए तो हमारे देश के मजदूरों के लिए बहुत ही लाभकारी होता है। जिसे श्रमिकों को श्रम पेंशन की उपलब्धता होती है।

आइए जाने क्या है यह ई-श्रम कार्ड बनाने के लाभ:-

यदि आप एक ई-श्रम कार्ड धारक है तो आपको मैं एक ई-श्रम कार्ड के फायदे की जानकारी को आपसे साझा करूंगा जो इस प्रकार से है:-

  • श्रम कार्ड से आप देश के सभी प्रकार के केंद्र तथा राज्य सरकार के द्वारा सभी सरकारी योजना का फायदा उठा सकते हैं।
  • इस कार्ड के तहत हर महीने आपके खाते में ₹1000 की रकम सरकार के द्वारा आर्थिक मदद के रूप में आपको प्रदान किया जाएगा।
  • यहां तक इस श्रम कार्ड के जरिए आपको भविष्य में सरकार द्वारा एक निश्चित राशि पेंशन के रूप में प्रदान की जा सकती है। जिसके कारण यह आपको वृद्धावस्था में किसी भी प्रकार का आर्थिक परेशानियों का  सामना ना करना हो।
  • यदि श्रमिकों के परिवार में कोई भी बेटा या बेटी हो तो उसे अपने उज्जवल भविष्य के लिए आगे की पढ़ाई करनी हो तो सरकार के तहत उसे छात्रवृत्ति के रूप में आर्थिक सहायता भी प्रदान की जाएगी जिस कारण से वह अपनी आगे की पढ़ाई सुचारू ढंग से जारी रख सकेंगे।
  • इस कार्ड के तहत श्रमिकों को अपने घरों के मरम्मत तथा नए घरों की निर्माण के लिए सरकार के द्वारा लोन भी पारित किया जाएगा।
  • श्रम कार्ड में यदि कोई श्रमिक किसी भी दुर्घटना में विकलांग हो जाता है तो ऐसी स्थिति में उसे केंद्र सरकार के तहत ₹100000 की रकम बीमा के रूप में प्रदान किया जाता है। तथा उसके विपरीत अगर श्रमिक की मृत्यु हो जाती है तो सरकार द्वारा उसे ₹200000 की आर्थिक राशि उसके परिवार वालों को सहायता के रूप में प्रदान की जाती है|

श्रम कार्ड बनाने के लिए किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता होती है:-

जैसा कि आपने ऊपर पड़ा होगा कि इ- श्रम कार्ड श्रमिकों के लिए कितने लाभकारी होते हैं। उसे देखते हुए मैं आपको बता दूं कि यदि आपके अभिभावक ई श्रम कार्ड में रजिस्ट्रेशन नहीं करवाए हैं तथा आप खुद और अपने परिवार वालों के लिए बनाना चाहते हैं तो उसके  लिए कुछ आवश्यक दस्तावेज की आवश्यकता होती है।  जिससे आप श्रम कार्ड बना सकते हैं और इसका कई लाभ उठा सकते हैं आइए जानते हैं आवश्यक दस्तावेज क्या है.

  • नाम एवं व्यापार
  • कौशल विवरण
  • शैक्षणिक क्वालिफिकेशन
  • आधार कार्ड
  • आधार कार्ड से लिंक फोन नंबर
  • सही वर्तमान पते का विवरण
  • पारिवारिक विवरण
  • अपना बैंक खाता नंबर आईएफएससी कोड के सहित

इस श्रम कार्ड को बनाने के क्या पात्रता अथवा योग्यता होने की आवश्यकता होती है:-

आपको इस बात से अवश्य अवगत करा दूं  कि श्रम कार्ड हमारे देश के केंद्र सरकार द्वारा चलाई गई अनेकों योजनाओं में से एक है। जिसके तहत हमारे देश के कई श्रमिकों को इससे आर्थिक सहायता मिली है और उन सभी श्रमिकों के उज्जवल भविष्य के लिए भी यह आर्थिक सहायता के साथ-साथ अन्य कई सुविधाओं का भी लाभ मिलता रहेगा।

यदि आप इस श्रम कार्ड धारक नहीं है और आप श्रम कार्ड धारक बनना चाहते हैं तो आपको इस कार्ड धारक बनने के लिए किन-किन योग्यता की आवश्यकता पड़ती है इसकी जानकारी की पुष्टि होना बहुत जरूरी है आइए जानें इस की योग्यता-

  • जो भी व्यक्ति इस कार्ड के लिए अप्लाई करना चाहता है उसे भारत का नागरिक होना जरूरी है।
  • आवेदक अर्थात श्रमिक का उम्र 16 वर्ष से 59 वर्ष के बीच होना चाहिए।
  • यह श्रमिक हमारे देश में किसी भी प्रकार के इनकम टैक्स ना देता हो।
  • जो भी लोग आवेदन करते हैं वे लोग EPF ईपीएफ तथा EFIC ईएसआईसी का मेंबर नहीं होना चाहिए।
  • एवं वे श्रमिक हमारे देश के असंगठित क्षेत्र में काम करता हो अर्थात कार्यरत हो।  

जैसा कि हम सभी को पता है कि ई-श्रम कार्ड योजना केंद्र सरकार द्वारा चलाई गई एक  योजना है जिसमें असंगठित इलाकों के श्रमिकों या मजदूरों का एक प्रकार से डाटा बेस होता है।

इसके अतिरिक्त कुछ भी बता हो जैसे कि आपातकाल की परिस्थितियां महामारी की परिस्थिति में जब सरकार को जनता तक आर्थिक सहायता पहुंचाने होती है तब संभवतः ई-श्रम कार्ड पर बने डाटाबेस का प्रयोग किया जा सकता है। कोरोना जैसी महामारी में भी जनता को आर्थिक सहायता प्रदान की गई थी। 

आपको यह बात स्पष्ट कर दे की ई-श्रम कार्ड योजना हमारे देश के पिछड़े एवं आर्थिक रूप से कमजोर नागरिकों के लिए लाई गई है। अर्थात फर्जी तरीके से या किसी अन्य तरीके से इस योजना का लाभ किसी ऐसे व्यक्ति को नहीं उठाना चाहिए जो इस योजना का पात्र नहीं है।

क्या एक परिवार में एक व्यक्ति से अधिक ई-श्रम कार्ड धारक हो सकते हैं?

हां, यह संभव है,अनिवार्य नहीं है कि किसी परिवार का एक ही सदस्य ई-श्रम कार्ड धारक हो सकता है किसी परिवार में यदि दो या दो से अधिक व्यक्ति इ-श्रम कार्ड बनाने की योग्यताएं रखता है तो वह आसानी से अपना इ-श्रम कार्ड बनवा सकता है। तथा सरकार द्वारा लाई गई इस नीति का आसानी से लाभ उठा सकता है।

निष्कर्ष:-

सर्वप्रथम आप सभी पाठकों को धन्यवाद जो आपने इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ा। हम आशा करते हैं कि हमारा यह आर्टिकल आपको अत्यधिक पसंद आया होगा। हम अत्यंत प्रसन्न होंगे यदि आप हमें इस आर्टिकल से संबंधित प्रश्न कमेंट के जरिए पूछे तो।

आर्टिकल के माध्यम से आप सभी पाठकों को श्रम कार्ड से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां प्रदान की है। यदि आपको यह आर्टिकल पसंद आया तो आप अपने मित्रों तथा सगे संबंधियों तक अवश्य पहुंचे।

अन्य लाभदायक पोस्ट

Wasim Akram

वसीम अकरम WTeckni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.

Leave a Comment