बैंक में ऑफिस असिस्टेंट कैसे बने? ऑफिस असिस्टेंट बनने के कोर्स तथा योग्यता

बैंकों में अनेक प्रकार की नौकरियां प्रदान की जाती है जिसमें योग्य उम्मीदवार इन नौकरियों को अपनी योग्यता के अनुसार हासिल करने में सक्षम होते हैं. 

आजकल के प्राइवेट और सरकारी बैंकों में सभी नौकरियों के साथ-साथ एक असिस्टेंट का भी पद होता है जिसे बनना कई विद्यार्थियों की सपना होती है. इस आर्टिकल के माध्यम से आपको बताने जा रहे हैं की बैंक में ऑफिस असिस्टेंट कैसे बने?

इसके साथ साथ इसे बनने के लिए योग्यता और आयु सीमा क्या होनी चाहिए?

भारत में मुख्यता दो सेक्टर के बैंक उपलब्ध है प्राइवेट तथा सरकारी. इन सभी बैंकों में सभी पदों की जैसा ऑफिस असिस्टेंट भी एक महत्वपूर्ण पद है जिसकी तैयारी काफी स्टूडेंट करते हैं. 

हमारे इस आर्टिकल के माध्यम से आप जानेंगे की एक ऑफिस असिस्टेंट की सैलरी कितनी होती है?

ऑफिस असिस्टेंट क्या होता है? 

एक ऑफिस असिस्टेंट की नौकरी बैंक के साथ-साथ कई कंपनियों और विद्यालयों में भी होती है. हर तरह के क्षेत्र में उम्मीदवार अपने योग्यताओं के अनुसार फॉर्म अप्लाई करते हैं. 

कई विद्यार्थी बैंक में ऑफिस असिस्टेंट के पद की तैयारी करते हैं तो कुछ विद्यार्थी कंपनियों में ऑफिस असिस्टेंट बनने के लिए पढ़ाई करते हैं इस तरह से बहुत से सेक्टर में ऑफिस असिस्टेंट बना जा सकता है.

अधिकतर विद्यार्थी सरकारी बैंकों में इस पद की नौकरी को हासिल करने के लिए फॉर्म अप्लाई करते हैं और इसकी परीक्षा की तैयारी मेहनत और लगन से शुरू करते हैं. 

ऑफिस असिस्टेंट प्राइवेट के साथ-साथ सरकारी नौकरी भी होती है और आजकल के युग में सरकारी नौकरी की महत्व हमारे समाज में बहुत ही ज्यादा दी जाती है इसलिए अधिकतर विद्यार्थी सरकारी बैंकों में ऑफिस असिस्टेंट बनने के लिए फॉर्म अप्लाई करते हैं.

ऑफिस असिस्टेंट का कार्य 

बैंक में जब किसी उम्मीदवार का चयन ऑफिस असिस्टेंट के पद पर होता है तो यह अधिकारी को बैंक से संबंधित कई प्रकार की जिम्मेदारी सौंपी जाती है जिनको इन्हें इमानदारी पूर्वक और अच्छे ढंग से करना होता है.

बैंक में ऑफिस असिस्टेंट का कार्य निम्नलिखित है:- 

बैंकों के सभी छोटे तथा बड़े कामों को मैनेज करने का काम एक ऑफिस असिस्टेंट का होता है जिसमें वे हर तरह की मैनेजमेंट करते हैं.

एक ऑफिस असिस्टेंट का कार्य बैंकों के फोन में आए गए इनकमिंग कॉल्स को रिसीव करना और उनसे पूछे जाने वाले प्रश्नों का उत्तर देना होता है इसके साथ साथ आउटगोइंग कॉल्स को भी हैंडल करना इन्ही की जिम्मेदारी होती है.

इनका कार्य कोरियर और पोस्ट के थ्रू आए गए सामानों को रिसीव करना और उसकी पता तक उस सामान को पहुंचाना और उसकी जानकारी लेना कि वह सामान सही तरीके से डिलीवर हुआ है या नहीं इन सभी की जानकारी रखना एक ऑफिस असिस्टेंट का कार्य होता है.

बैंक में कई ऐसे आवश्यक सामग्री होती है जिनका प्रयोग प्रतिदिन किया जाता है जैसे नोटबुक्स पेन तथा कुछ छोटी-छोटी सामग्री. इन सभी कि मैनेजमेंट करना तथा यदि पेन या नोटबुक खत्म हो गई हो तो इसे मार्केट से लाना और ऑफिस में रखना इनका कार्य होता है.

मीटिंग के लिए मीटिंग रूम को मैनेज करना उसमें आवश्यक सामानों को अच्छी पूर्वक रखना टेबल और कुर्सी को अरेंज करना इन सभी कार्यों को एक ऑफिस असिस्टेंट करता है.

यदि कोई पर्सन किसी बैंक के ऑफिसर से मिलने आए हो तो उन्हें मिलाना  भी उन्हीं का कार्य होता है.

बैंकों के कुछ छोटे-छोटे कार्य भी एक ऑफिस असिस्टेंट करती है जैसे एक्सेल में कुछ चढ़ाना हो या वर्डपैड से संबंधित कार्य इत्यादि.

इन सभी कार्यों के साथ-साथ फाइलों की देखरेख और इनका मैनेजमेंट करना भी एक ऑफिस असिस्टेंट का कार्य होता है. फाइलों को सही ढंग से रखना और आवश्यकता अनुसार ऑफिसर्स के पास उन फाइलों को जा कर देना भी इन्हीं का कार्य होता है.

इस प्रकार एक ऑफिस असिस्टेंट बैंक के विभिन्न कार्यों को कर अपना महत्वपूर्ण योगदान देते हैं.

Bank Assistant बनने की योग्यता 

यदि आप भी बैंक में ऑफिस असिस्टेंट बनने की चाहत रखते हैं तो इसके लिए आप में इस  जॉब से संबंधित योग्यता शामिल होनी चाहिए.

उम्मीदवारों को किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक डिग्री किसी भी ऑनर्स के साथ पूरी करनी आवश्यक है. आप ग्रेजुएशन बीए, बीकॉम या बीएससी किसी से भी कर सकते हैं. लेकिन आपको अपनी ग्रेजुएशन 60% मार्क्स से कंप्लीट करनी होगी.

उम्मीदवारों को कंप्यूटर से संबंधित बेसिक जानकारियों का होना अनिवार्य है क्योंकि ऑफिस असिस्टेंट का कार्य बैंक में कंप्यूटर से संबंधित होता है जिसमें उन्हें एक्सेल वर्ल्ड पैड, पावर पॉइंट एवं डेटाबेस इन सभी से संबंधित कार्य करने होते हैं.

उम्मीदवारों को काफी हद तक इंग्लिश भाषा का ज्ञान होना आवश्यक है क्योंकि बैंकों में अधिकतर कार्य इंग्लिश से की जाती है.

यदि आप में  इन सभी योग्यताएं हैं तभी आप इस जॉब के लिए फॉर्म अप्लाई कर सकते हैं.

ऑफिस असिस्टेंट बनने की आयु सीमा 

बैंकों के द्वारा कई प्रकार की नौकरियों का वैकेंसी जारी होता है जिसमें हजारों हजार विद्यार्थी फॉर्म अप्लाई करते हैं जिसमें से ऑफिस असिस्टेंट भी एक नौकरी होती है जिसमें खासकर महिलाएं फॉर्म अप्लाई करती है.

ऑफिस असिस्टेंट के इस पद के लिए आवेदन कर्ता की आयु सीमा लगभग 18 वर्ष से 28 वर्ष के बीच होनी चाहिए तभी वे इस पद के लिए आवेदन कर सकते हैं अन्यथा नहीं.

वहीं आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों की बात करें तो सरकार इनकी आयु में कुछ छूट देती है.

परीक्षा पैटर्न और चयन प्रक्रिया:- 

बैंकों में अनेक प्रकार की नौकरी के लिए वैकेंसी जारी की जाती है लेकिन ऑफिस असिस्टेंट के पद की नौकरी के लिए आईबीपीएस आरआरबी के द्वारा आयोजित की जाती है जिसमें हजारों हजार विद्यार्थी एग्जाम के लिए आवेदन करते हैं और इसकी की तैयारी मेहनत और लगन पूर्वक विद्यार्थियों द्वारा किया जाता है.

यह परीक्षा मुख्यता तीन चरण में होता है, प्रीलिम्स परीक्षा, मेंस तथा इंटरव्यू.

1. Preliminary Exam (प्रारंभिक परीक्षा):- 

इस परीक्षा के अंतर्गत ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्न पूछे जाते हैं और विद्यार्थियों को 1 घंटे का समय दिया जाता है. इस परीक्षा में विद्यार्थियों को पास होना अनिवार्य है क्योंकि बिना टैलेंट एग्जाम में पास किए  मेंस एग्जाम नहीं दिया जा सकता.

2. Mains Examination (मुख्य परीक्षा):- 

मेंस एग्जाम में थ्योरी पेपर से क्वेश्चन पूछे जाते हैं और यह एग्जाम एग्जाम के बाद ली जाती है जिसमें विद्यार्थियों को आवश्यकता अनुसार प्राप्त करने होते हैं.

3. Interview (साक्षत्कार):- 

जब उम्मीदवारों द्वारा मेंस परीक्षा पास की जाती है उसके दौरान इनकी पर्सनैलिटी चेक करने के लिए इंटरव्यू में बुलाया जाता है और अधिकारियों द्वारा विभिन्न प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं. अधिकारियों के द्वारा इस जॉब से संबंधित तथा कंप्यूटर से कुछ प्रश्न पूछे जाती है, यह एग्जाम हंड्रेड मार्क्स का होता है.

इन सभी परीक्षाओं को देने के पश्चात उम्मीदवारों के मार्क्स के अनुसार मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है जिसमें उनका चयन होता है. जिस भी विद्यार्थी का चयन इस पोस्ट में होता है उन्हें ऑफिस असिस्टेंट का पद नियुक्त किया जाता है.

ऑफिस असिस्टेंट बनने के लिए कोर्स   

इस परीक्षा के अंतर्गत कई महत्वपूर्ण विषय से प्रश्न पूछे जाते हैं जैसे रिजनिंग, जनरल अवेयरनेस, कंप्यूटर नॉलेज, हिंदी लैंग्वेज तथा इंग्लिश लैंग्वेज इत्यादि.

इन सभी विषयों को इस परीक्षा के अंतर्गत उम्मीदवारों के द्वारा पढ़ी जाती है और  इसके लिए वे ईमानदारी के साथ साथ कड़ी मेहनत और लगन से परीक्षा की तैयारी करते हैं.

सिलेबस की जानकारी 

उम्मीदवारों को अपने परीक्षा से रिलेटेड सिलेबस की जानकारी होना आवश्यक है क्योंकि जब उन्हें अपने सिलेबस की जानकारी होगी तो उनके लिए परीक्षा की तैयारी करना आसान होगा.

जब उम्मीदवारों द्वारा सिलेबस को देखा जाता है तब उन्हें पता चलता है कि किस विषय में कितने मार्क्स के प्रश्न पूछे जाते हैं और हर विश्व में किस किस टॉपिक का अध्ययन करना है इससे उनकी स्ट्रेटजी भी आसान होती है.

ऑफिस असिस्टेंट बनने के लिए स्मार्ट स्टडी करें 

उम्मीदवारों को अपने हर एक परीक्षा की तैयारी कुछ स्मार्ट तरीके से करनी चाहिए जिससे कम समय में उनका सिलेबस जल्दी पूरा हो सके इसके साथ-साथ उन्हें टाइम टेबल बनाकर हर विषय की जानकारी अध्ययन करनी चाहिए क्योंकि टाइम टेबल से दिन भर में प्रत्येक विषय को आप एक निश्चित टाइम दे सकेंगे जिससे आपका पकड़ हर विषय में अच्छा होगा.

इस परीक्षा की तैयारी के लिए इसकी कोर्सों की पढ़ाई इंस्टीट्यूट द्वारा कर सकते हैं क्योंकि ऐसे बहुत से इंस्टिट्यूट हैं जो बैंक से संबंधित नौकरियों की तैयारी कराते हैं.

घर में प्रॉपर टाइम अपनी स्टडी को दें और जहां तक संभव होता है हर एक सब्जेक्ट में इमानदारी पूर्वक अपनी मेहनत करें. सभी टॉपिक के शार्ट नोट्स बनाएं जिससे आपको रिवीजन करने में आसानी होगी.

इस परीक्षा से संबंधित किसी भी क्वेश्चन में कंफ्यूजन हो तो उसे आप यूट्यूब के वीडियो से हेल्प ले सकते हैं या फिर अपने दोस्तों से भी डिस्कस करके प्रश्न का हल निकाल सकते हैं.

कमजोर विषय में ध्यान दें:- 

बहुत से ऐसे उम्मीदवार होते हैं जो अपनी परीक्षा की तैयारी तो मेहनत पूर्वक करते हैं लेकिन जो विषय उनका कमजोर होता है उसमें ना ध्यान देते हुए अपने इंटरेस्टेड विषयों पर ज्यादा ध्यान देते हैं और इस तरह से उनका पकड़ कमजोर विषय में नहीं बन पाता और वह परीक्षा में सफल नहीं हो पाते हैं. इसलिए हर एक विद्यार्थी को अपने कमजोर विषयों में ज्यादा ध्यान देकर उन्हें मजबूत बनाने का प्रयास करने चाहिए जिससे आपका एग्जाम अच्छे से कंप्लीट हो.

इंग्लिश की जानकारी रखें:- 

यदि आपको बैंक में ऑफिस असिस्टेंट की नौकरी पानी है इसके लिए आपको इंग्लिश भाषा मजबूत करनी होगी क्योंकि बैंक से संबंधित हर एक कार्य इंग्लिश भाषा के अंतर्गत होता है.

ऑफिस असिस्टेंट के लिए इंग्लिश जानना जरूरी है यदि एक ऑफिस असिस्टेंट लिमिटेड इंग्लिश जानते हैं आराम से बैंक में काम कर सकते हैं. क्योंकि इनका काम बैंक में छोटी-छोटी कामों को करना होता है जिसमें ज्यादा हाई लेवल की इंग्लिश की जरूरत नहीं होती है. उम्मीदवार को  आवश्यकतानुसार इंग्लिश जानना आवश्यक है.

ऑफिस असिस्टेंट की सैलरी 

बैंक में एक ऑफिस असिस्टेंट की सैलरी उनके कार्य के अनुसार 15000 से 19000 के बीच में दी जाती है.

ऑफिस असिस्टेंट अपना हर एक कार्य बहुत ही महत्वपूर्ण तरीके से करते हैं और बैंक के सभी प्रकार की मैनेजमेंट का कार्य इन्हीं के द्वारा किया जाता है.

कॉल हैंडलिंग के साथ-साथ मीटिंग से संबंधित मैनेजमेंट इत्यादि कार्य एक ऑफिस असिस्टेंट का होता है जो वह बहुत ही महत्वपूर्ण तरीके से करते हैं, इनकी कार्यों के अनुसार इनका पेमेंट हर मंथ किया जाता है.

निष्कर्ष

आज हमने आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से यह बताया की ऑफिस असिस्टेंट कैसे बने?

इसके साथ साथ इसकी सैलरी योग्यता ,आयु सीमा तथा कोर्स के बारे में भी बताया हैं.

यदि आपको हमारा यह बैंक से संबंधित आर्टिकल पसंद आया हो तो आप अपने ग्रुप में जरुर शेयर करें.

Wasim Akram

वसीम अकरम WTeckni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.

Leave a Comment